बिहार

फेरे लेने के दूसरे दिन ही दूल्हे की मौत, शादी में शामिल साढ़े तीन सौ में से 111 लोग कोरोना पॉजिटिव

बिहार के पटना जिले के पालीगंज के डीहपाली गांव में हुए शादी समारोह से निकली कोरोना संक्रमण चेन थमने का नाम नहीं ले रही है। सोमवार को इस संक्रमण चेन से एक साथ 79 कोरोना संक्रमित मिले। समारोह में शामिल 369 लोगों की जांच में 79 संक्रमित पाए गए हैं। जबकि 31 पहले संक्रमित हो चुके हैं। इस समारोह में शामिल हुए 111 लोग अब तक संक्रमित मिल चुके हैं।  मसौढ़ी में मिले संक्रमित रिटायर्ड शिक्षक भी इसी शादी समारोह से जुड़े हैं। दूल्हे की शादी के दूसरे दिन ही मौत हो चुकी है। 

 पालीगंज संक्रमण चेन ने पटना जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ा दी है। यह सामुदायिक संक्रमण का कारण बनता जा रहा है। पटना में एक दिन में किसी एक जगह पर इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित मिलने का यह रेकॉर्ड है। इससे पालीगंज बाजार और आसपास के गांवों के लोग भी दहशत में हैं। यह शादी 15 जून को हुई थी। समारोह के एक दिन बाद ही 17 जून को दूल्हे की मौत हो गई थी। हालांकि दूल्हे की कोरोना जांच नहीं हो पाई थी। उसके बाद बारातियों की जांच शुरू हुई, पहले चरण में नौ संक्रमित मिले। 22 जून को 15 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद चार चरणों में 369 लोगों के सैंपल लिये गए, जिनमें 79 लोग संक्रमित पाए गए। सोमवार को मिले सभी संक्रमितों को बिहटा स्थित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। नगर बाजार से सटे डीहपाली व खपुरा के अलावा बाबा बोरिंग रोड व मीठा कुआं मोहल्ले को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया गया है। इनके घर से निकलने पर पाबंदी लगा दी गई है। उनके मोहल्ले में सिर्फ स्वास्थ्य विभाग के लोग जा सकते हैं। बीडीओ चिरंजीव पांडेय ने बताया कि मोहल्ले को सेनेटाइज कराने का काम शुरू कर दिया गया है। 

मसौढ़ी तक पहुंच चुकी है संक्रमण चेन 
पालीगंज के समारोह से जुड़ी संक्रमण चेन जिले के मसौढ़ी प्रखंड तक पहुंच चुका है। इस समारोह में मसौढ़ी के भगवानगंज का परिवार भी शामिल हुआ था। वहां के भी सात लोग संक्रमित मिल चुके हैं। इस तरह पालीगंज और मसौढ़ी को मिला दिया जाए तो अब तक कुल 111 लोग इस संक्रमण चेन की जद में आ चुके हैं। 

संपर्क में आए लोगों की भी होगी जांच
स्वास्थ्य प्रबंधक ने बताया कि बड़े पैमाने पर कोरोना मरीज मिलने के बाद अनुमंडल अस्पताल की ओर से सर्वे टीम गठित कर दी गई है। यह टीम संक्रमित लोगों के संपर्क में आए लोगों को चिह्नित कर सूची बनाएगी। इसके बाद सभी चिह्नित लोगों की जांच स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम करेगी।

Share This Post