राष्ट्रीय

शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड से लोन नहीं मिलने पर भड़का छात्रों का गुस्सा

इस वक्त एक बड़ी खबर पटना से सामने आ रही है. जहां नाराज छात्र-छात्राओं ने शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद के आवास का घेराव किया गया है. प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत दिए जाने वाले लोन को लेकर छात्रों का गुस्सा भड़का है. उच्च शिक्षा के लिए दिए जाने वाले लोन में कोताही बरती जा रही है.

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत गरीब तबके के छात्र-छात्राओं को सरकार की गारंटी पर एजुकेशन लोन देने का प्रावधान है. लेकिन इन दिनों स्टूडेंट्स को इसका लाभ नहीं मिल रहा है. जिसके कारण नाराज छात्रों ने शिक्षा मंत्री के आवास का घेराव किया. एजुकेशन मिनिस्टर के आवास के बाहर सैकड़ों की संख्या में पहुंचे छात्र सरकार के खिलाफ जमकर नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं. शिक्षा मंत्री के खिलाफ नारेबाजी की जा रही है.

आपको बता दें कि कोरोना ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की रफ्तार रोक दी है. साल 2020-21 में एक लाख स्टूडेंट को उच्च शिक्षा के लिए लोन देने का लक्ष्य है. लेकिन 1 अप्रैल से 27 जुलाई तक ऑनलाइन 2023 आवेदन ही मिले हैं. यानी लक्ष्य का लगभग 2 प्रतिशत उपलब्धि है. उधर शिक्षा विभाग ने जिलों के अधिकारियों को अधिक से अधिक विद्यार्थियों को इस योजना का लाभ दिलाने के लिए कहा है.

योजना के नोडल पदाधिकारी अरविंद सिन्हा के मुताबिक कोरोना के कारण कॉलेज और शिक्षण संस्थान बंद रहने से कम आवेदन आ रहे हैं. कॉलेज और शिक्षण संस्थान खुलने के बाद योजना में तेजी आएगी.  इस वित्तीय वर्ष में अबतक 43.97 करोड़ के ऋण स्वीकृत हुए हैं.  पिछले साल 75 हजार छात्र-छात्राओं को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत शिक्षा ऋण देने का लक्ष्य था. 1 अप्रैल, 2019 से 31 मार्च, 2020 तक 53327 विद्यार्थियों के लिए 1292.15 करोड़ लोन स्वीकृत किया गया था. इसमें 630 करोड़ लोन राशि दी गई थी. बिहार सरकार शिक्षा वित्त निगम के माध्यम से छात्रों को 4 प्रतिशत और छात्राओं और दिव्यांग स्टूडेंट को 1 प्रतिशत ब्याज पर अधिकतम 4 लाख रुपए तक ऋण दिलाती है.

Share This Post