Bihar Election 2020
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

बिहार विधानसभा चुनाव : प्रमंडल में 20700 बूथ के लिए 1.23 लाख मतदानकर्मी उपलब्ध

प्रमंडल में विधानसभा चुनाव की तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रमंडलीय स्तर पर हुई समीक्षा में यह बात सामने आई है कि प्रमंडल में मतदान कर्मियों की कोई कमी नहीं है। यह बात भी सामने आई कि जरूरत के मुताबिक प्रमंडल में वाहनों की उपलब्धता काफी कम है। प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को अपने स्तर से इस मामले में कार्रवाई का निर्देश दिया है।
प्रमंडलीय समीक्षा में यह बात सामने आई है कि प्रमंडल के मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण व वैशाली जिले में कुल 20700 बूथों पर मतदान होना है। इन बूथों पर तैनाती के लिए प्रमंडल को 1,17,935 मतदान कर्मियों की आवश्यकता है। कुल उपलब्धता की समीक्षा में यह बात सामने आई है कि प्रमंडल में चुनाव ड्यूटी के लिए जरूरत से कहीं अधिक 1,23,521 मतदान कर्मी उपलब्ध हैं। हालांकि वाहन कोषांग की समीक्षा में कुछ कमियां नजर आई हैं। उनके अनुसार प्रमंडल में जितने वाहनों की जरूरत है, उतने उपलब्ध नहीं हैं। चुनाव के दौरान मतदान व सुरक्षाकर्मियों के लिए उपलब्ध वाहनों के अलावा 596 बस व 927 छोटे वाहनों की आवश्यकता पड़ेगी। इन वाहनों की जरूरत दूसरे जिलों में अधिग्रहण किये गए वाहनों से पूरी की जाएगी।
प्रमंडल में मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने व सुधारने के डेढ़ लाख आवेदन
प्रमंडलीय समीक्षा में यह बात भी सामने आई है कि बड़ी संख्या में मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने व नाम सुधारने के आवेदन लंबित हैं। आंकड़ों के अनुसार प्रमंडल में नाम जोड़ने के करीब डेढ़ लाख आवेदन लंबित हैं। नाम जोड़ने के लिए मुजफ्फरपुर में 5010, वैशाली में 43640, सीतामढ़ी में 9133, शिवहर में 163, पूर्वी चंपारण में 396 व पश्चिम चंपारण में 5613 आवेदन लंबित हैं। वहीं नाम काटने के मुजफ्फरपुर में 91, वैशाली में 125, सीतामढ़ी में 80, शिवहर में 02, पूर्वी चंपारण में शून्य व पश्चिम चंपारण में 199 आवेदन लंबित हैं।
 वहीं नाम सुधारने के लिए प्रमंडल के मुजफ्फरपुर में 1482, वैशाली में 1439, सीतामढ़ी में 2360, शिवहर में 186, पूर्वी चंपारण में 230 व पश्चिमी चंपारण में 1049 आवेदन लंबित हैं। प्रमंडलीय आयुक्त ने जिला निर्वाचन अधिकारियों को इन आवेदनों के तुरंत निपटारे का आदेश दिया है, ताकि विधानसभा चुनाव में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer