बिहार

बिहार में साढ़े 28 लाख कार्डधारियों के फर्जी होने की आशंका: सुशील मोदी

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जून में बिहार में कुल राशनकार्डधारियों की संख्या 1 करोड़ 68 लाख 31 हजार थीं। मगर केवल 1 करोड़, 39 लाख 28 हजार कार्डधारियों ने ही खाद्यान्न का उठाव किया। ऐसे में आशंका है कि खाद्यान्न नहीं लेने वाले 28 लाख 42 हजार कार्डधारी फर्जी, डुप्लीकेट हैं या वे अपने मूल स्थान को छोड़कर अन्य राज्यों में निवास कर रहे हैं।

वैसे 23 लाख 38 हजार नए राशनकार्ड बनाए गए हैं जिनमें से 96 प्रतिशत का वितरण किया जा चुका है। नए राशनकार्डधारियों को भी मुफ्त खाद्यान्न वितरण योजना का लाभ मिलेगा। सरकार ने पहले ही निर्देश दिया है जो लोग किसी कारण से राशनकार्ड बनवाने से वंचित रह गए हैं, वे भी आरटीपीएस काउंटर पर अपना आवेदन देकर राशनकार्ड बनवा सकते हैं।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के सभी राशनकार्डधारियों को आश्वस्त किया कि प्रधानमंत्री द्वारा ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के तहत अगले पांच महीने तक मुफ्त खाद्यान्न देने की घोषणा के आलोक में सभी को खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य के कई जिलों में भीषण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। ऐसे में खाद्यान्न वितरण में परेशानी हो रही है, मगर वे निश्चिंत रहें, प्रति व्यक्ति 25 किलो खाद्यान्न व प्रति परिवार 5 किलो चना उन्हें अवश्य दिया जायेगा।

उपमुख्यमंत्री ने पश्चिम चम्पारण के बाढ़ प्रभावित प्रखंडों के भाजपा मंडल अध्यक्षों से प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल के साथ वर्चुअल बातचीत कर बाढ़ की स्थिति की जानकारी लेने के बाद बताया कि जिला प्रशासन और स्थानीय जनता की सजगता व सहयोग से नौतन व बैरिया बांध को टूटने से बचाकर बड़ी तबाही व बर्बादी को रोक लिया गया।

Share This Post