Suresh Raina
खेल

जमानत पर रिहा होने के बाद सुरेश रैना ने दी सफाई, बताया क्यों हो गई बड़ी गलती

रासत में लिया गया, लेकिन बाद में उन्हें जमानत पर रिहा भी कर दिया गया। पुलिस ने मुंबई के एक क्लब में छापा मारा जहां कोरोना के उल्लंघन के आरोप में रैना और सिंगर गुरू रंधावा सहित 34 लोगों को हिरासत में लिया गया। इस दौरान कुछ महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया था, लेकिन पुलिस ने उनके बारे में जानकारी नहीं दी। जमानत पर रिहा होने के बाद अब इस पूरे मामले पर सुरेश रैना की तरफ से सफाई आई है।

पूर्व बल्लेबाज की मैनेजमेंट टीम द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि 34 साल के रैना को घटना के वक्त स्थानीय समय सीमा (क्लब खुला रहने की) और दूसरे नियमों की जानकारी नहीं थी। बयान के मुताबिक, ”सुरेश एक शूट के लिए मुंबई में थे, जो देर तक चला था। उनके एक मित्र ने उन्हें दिल्ली रवाना होने से पहले डिनर के लिए इनवाइट किया था। उन्हें स्थानीय समय सीमा और नियमों की जानकारी नहीं थी।” उन्होंने कहा कि इस बारे में बताए जाने के बाद उन्होंने (रैना) तुरंत अधिकारियों द्वारा निर्धारित प्रक्रियाओं का अनुपालन किया और अनजाने में हुई इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर अफसोस जताया। बयान में कहा गया कि वह (रैना) हमेशा पूरे सम्मान के साथ नियम और कानून का पालन करते है और भविष्य में भी ऐसा करना जारी रखेंगे। 

मुंबई पुलिस ने बताया कि रैना सहित 34 आरोपियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269 के तहत और महामारी एक्ट के तहत हिरासत में लिया गया। इन लोगों की गिरफ्तारी ड्रैगनफ्लाई पब से हुई जहां कोरोना के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया गया। उल्लेखनीय है कि सोमवार को महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना का प्रभाव रोकने के लिए रात को कर्फ्यू लगाने का फैसला किया था। नए साल को देखते हुए राज्य सरकार ने मुंबई में 22 दिसंबर से पांच जनवरी तक कई प्रतिबंध लगाए हैं।

रैना ने इस साल 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। रैना को सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए सोमवार को उत्तर प्रदेश टीम के संभावित 26 सदस्यों में शामिल किया गया था। बाएं हाथ के बल्लेबाज रैना ने 15 अगस्त को संन्यास लिया था और उसके बाद 20 अगस्त को वह अपनी आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ दुबई पहुंचे थे। रैना कुछ दिन दुबई रहे लेकिन निजी कारणों का हवाला देते हुए स्वदेश लौट आए और इस बार आईपीएल में नहीं खेले। रैना हाल में जम्मू-कश्मीर में क्रिकेट को बढ़ावा देने के प्रयासों में लगे हुए हैं।

Share This Post