School reopening News
राष्ट्रीय

सरकार का बड़ा फैसला, कल से 10वीं से 12वीं तक के सभी स्कूल खुलेंगे, जानें और क्या-क्या खुला

झारखंड  में दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई के लिए स्कूल खोलने पर सहमति बन गई है। बुधवार को इससे संबंधित आदेश जारी हो जाएगा। उम्मीद है कि गुरुवार से स्कूल खुल जाएंगे। इस दौरान ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी। स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लॉकडाउन के दौरान जारी सख्ती में कई प्रकार से राहत दी गई है। जैसे-जैसे हालात में सुधार होंगे, और भी राहत प्रदान की जाएगी।

इसके साथ ही मेडिकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज व नर्सिंग कॉलेज में भी पढ़ाई शुरू करने की अनुमति दी गई है। इसके अलावे तमाम सरकारी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूूट भी खोले जाएंगे। साथ ही सरकार ने ऑनलाइन पढ़ाई की सुविधा भी चालू रखने का निर्देश दिया है। मंगलवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में आपदा प्रबंधन विभाग के समीक्षा बैठक हुई जिसमें स्वास्थ्य सह आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता व विभागीय अधिकारी भी मौजूद थे।

बन्ना गुप्ता ने जानकारी दी कि बैठक में तय किया गया कि लॉक डाउन के बाद से बंद पड़े स्कूलों और कॉलेजों में बुधवार को पढ़ाई की शुरुआत करने की अनुमति दे दी जाएगी। इसकी शुरुआत में 10वीं और 12वीं कक्षा तक के बच्चों की कक्षा शुरू करने की अनुमति दी गई हैं। इतना ही नहीं, सरकारी स्तर से संचालित सभी प्रशिक्षण केंद्रों को शुरू करने की अनुमति भी प्रदान कर दी गई है।

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने बड़ा फैसला लिया। है। कल से झारखंड में दसवीं से बारहवीं तक के सभी स्कूल खुलेंगे। मेडिकल, डेंटल और नर्सिंग संस्थानों में पढ़ाई शुरू होगी। सभी सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों में प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू हो सकते हैं। मंदिरों एवं अन्य धार्मिक संस्थानों में 200 लोगों को जोड़कर कार्यक्रम करने की अनुमति दी गई है। आउटडोर कार्यक्रमों में 300 लोग तक रह सकते हैं, जबकि इनडोर कार्यक्रम में 200 लोग शामिल हो सकेंगे।

झारखंड सरकार के बड़े फैसले

  1. लॉकडाउन के बाद से बंद पड़े स्कूलों और कॉलेजों में कल से पढ़ाई की शुरुआत की जाएगी। वर्तमान समय में सिर्फ 10वी, 12वी क्लास तक के बच्चों की कक्षा शुरू करने की अनुमति दी गई हैं।
  2. मेडिकल कॉलेज, डेंटल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज में भी पढ़ाई शुरू करने की अनुमति दी गई हैं, इसके अलावे सरकारी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट भी खोले जाएंगे, साथ ही सरकार ने ऑनलाइन पढ़ाई की सुविधा भी चालू रखने का निर्देश दिया है।
  3. सरकार का ऐतिहासिक फैसला, सड़क दुर्घटना के मृतक के आश्रित को एक लाख रुपये का मुआवजा राशि दिया जाएगा। यह मुआवजा राशि आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा दिया जाएगा।
  4. शादी समारोहों जैसे आयोजन में सरकार ने थोड़ी राहत देते हुए बाहर मैदान में हुए आयोजन में 300 लोगों को शामिल होने की अनुमति दे दी है, जबकि होटल या बैंकेट हाल के अंदर आयोजन पर 200 लोगों को ही अनुमति प्रदान की गई है।
  5. धार्मिक स्थलों और अनुष्ठानों या आयोजनों में 200 लोगों को हिस्सा लेने की अनुमति दी है।
  6. फिलहाल स्वीमिंग पुल, पार्क और सिनेमा घरों को बंद रखने का फैसला सरकार ने किया है।
  7. सर्प दंश से मारे जाने वाले लोगों को मुआवजा राशि देने का प्रावधान हैं लेकिन लोगों को जानकारी का अभाव हैं इसके लिए व्यापक तौर पर प्रचार प्रसार करने का फैसला सरकार ने लिया है।
  8. कोरोना काल में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा दी गई राशि का प्रत्येक विभाग को उपयोगिता प्रमाण पत्र देना सुनिश्चित और अनिवार्य किया गया है साथ ही आपदा प्रबंधन विभाग पूरे खर्च का ऑडिट कराएगा।

निर्धारित शर्तों के साथ राज्य के स्कूल, मेडिकल कॉलेजों व अन्य तकनीकी संस्थानों को खोलने पर सरकार ने मंगलवार को अहम निर्णय लिया है। 10वीं से बारहवीं के बच्चों के लिए कल से स्कूल खुल जाएंगे। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में मंगलवार को हुुई आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक में व्यापक चर्चा के बाद इस संबंध में निर्णय लिया गया है।

राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण के विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श करने तथा पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद स्कूलों व संस्थानों के खोलने पर निर्णय लिया है, क्योंकि राज्य में अब  सभी जिलों में कमतर कोरोना वायरस का संक्रमण मिल रहा है। हालांकि, राजधानी रांची में प्रतिदिन 50 से 100 के बीच नए संक्रमित मिल रहे हैं।

Share This Post