Amity University News
पटना बिहार

एमिटी यूनिवर्सिटी पटना उठाएगी जरुरतमंद छात्रों की पढ़ाई का खर्च

पटना: कोरोना महामारी, तालाबंदी और इससे होने वाली आर्थिक तंगी से आज पूरा विश्व जूझ रहा है. इस समय बिहार में बड़ी संख्या में लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं और महंगा इलाज लोगों को चिंतित कर रहा है. महंगी दवाइयों और इंजेक्शन के उपयोग के बावजूद ऐसे कई लोग हैं जो कोरोना से जंग हार चुके हैं, जिसका सबसे बड़ा असर उनके परिवार और बच्चों पर पड़ता है जो अभी आर्थिक आत्मनिर्भर नहीं हैं. इस सन्दर्भ मे एक सकारात्मक और मानवता को जीवित रखने की ज़रूरत है जिसकी पहल एमिटी यूनिवर्सिटी पटना ने की है.

डॉ. अशोक के. चौहान, माननीय संस्थापक अध्यक्ष, एमिटी एजुकेशन ग्रुप और डॉ. अतुल चौहान, माननीय कुलाधिपति, एमिटी यूनिवर्सिटी पटना ने फैसला लिया है कि एमिटी यूनिवर्सिटी पटना में पढ़ने वाले वैसे छात्र जिन्हीने कोरोना की वजह से अपने माता या पिता को खोया है और इसकी वजह से आर्थिक तंगी में हैं, तो उनकी बची हुई पढ़ाई और शैक्षणिक शुल्क का पूरा वहन एमिटी यूनिवर्सिटी पटना करेगा.

डॉ. टी. आर. वेंकटेश, माननीय कुलपति, एमिटी यूनिवर्सिटी पटना ने बताया कि इस फैसले से जरूरतमंद छात्रों की उच्च शिक्षा और अपनी वर्तमान डिग्री को हासील करने की राह मे कोई अर्चन नहीं आएगी. डॉ. विवेकानंद पांडे, माननीय प्रति कुलपति , एमिटी यूनिवर्सिटी पटना ने बताया की एमिटी इस विकट परिस्थिति में हमेशा अपने छात्रों, शिक्षक और सभी स्टाफ के साथ खड़ी रही है, और यह एक सकारात्मक और फैसला है जिसके लिए वे माननीय संस्थापक अध्यक्ष और माननीय कुलाधिपति को दिल से धन्यवाद करते हैं. एमिटी यूनिवर्सिटी पटना के छात्रों और शिक्षकों ने भी इस फैसले का स्वागत किया है.

Digital Marketing Agency in Patna
Digital Marketing Agency in Patna

Share This Post