राष्ट्रीय

Bharat Band Live: कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का भारत बंद जारी, इन रास्तों पर जानें से बचें

केंद्र के तीन कृषि कानूनों के विरोध में सोमवार को बुलाया किसानों का भारत बंद शुरू हो गया है। इस दौरान किसान अलग-अलग हाइवे पर चक्का जाम करेंगे और साथ ही रेलवे लाइनों को भी अवरुद्ध करेंगे। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए गाजीपुर बॉर्डर पर वाहनों के आने-जाने पर रोक लगा दी है तो वहीं किसानों ने पंजाब-हरियाणा के बीच शंभु बॉर्डर को जाम कर दिया है। किसान सुबह छह बजे से शाम चार बजे तक चक्का जाम रखेंगे और विरोध प्रदर्शन करेंगे। किसानों के भारत बंद को कांग्रेस, लेफ्ट पार्टियां, आरजेडी, बीएसपी और एसपी सहित देश की लगभग हर विपक्षी पार्टी ने समर्थन देने का ऐलान पहले ही कर दिया है। 

Bharat Band Live Updates:

-भारत बंद के मद्देनजर दिल्ली से सटे गाजियाबाद और नोएडा बॉर्डरों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है और यहां लंबा जाम भी लग गया है। गाजियाबाद पुलिस ने गाजियाबाद से दिल्ली के निजामुद्दीन जाने वाले हाईवे को बंद कर दिया है। यूपी गेट पर पुलिस ने वाहनों की चेकिंग के लिए बैरिकेड लगा दिए हैं। हालांकि, गाजीपुर के अलावा आनंद विहार, दिलशाद गार्डन-अप्सरा सिनेमा और तुलसी निकेतन तीनों सीमाएं खुली हैं। 

-दिल्ली-देहरादून हाईवे हुआ जाम। सिवाया टोल के सभी 12 लेन पर किसानों ने किया कब्जा, हाईवे हुआ जाम, वाहनों को रोका गया। हापुड़ में भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं ने स्कूल में डाला ताला।

-ओडिशा में भी भारत बंद का असर। सभी सरकारी और निजी दफ्तर, शिक्षण संस्थान और अन्य संस्थान बंद। भुवनेश्वर में ओडिशा कृषक संघ और अन्य प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन पर रेल रोकीं। मास्टर कैंटीन स्क्वायर पर ट्रैफिक भी रोका गया। बालासोर में प्रदर्शनकारियों ने कई लोगों के वाहन रोके। 

-कर्नाटक: भारत बंद के दौरान प्रदर्शन कर रहे कुछ किसानों को बेंगलुरु पुलिस ने एहतियातन हिरासत में लिया। किसानों ने आरोप लगाया कि बिना पूर्व जानकारी के पुलिस ने उनके सहयोगियों को मौर्या सर्कल से गिरफ्तार किया। 

-भारत बंद के दौरान दुकानें बंद करवाते राजद कार्यकर्ता।

– उत्तर प्रदेश में भी भारत बंद का असर। मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने छपार और रोहाना टोल पर लगाया जाम। स्टेट हाईवे और नेशनल हाईवे पर यातायात बंद हुआ। गंग नहर की पटरी से निकाला जा रहा है नेशनल हाईवे दिल्ली देहरादून का का यातायात।

-सहारनपुर में भारत बंद का ट्रेनों के संचालन पर दिखा असर। लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस को सहारनपुर में ही रोका। अम्बाला की तरफ से आने वाली भी नहीं आ रही कोई ट्रेन। अम्बाला से आगे रोपड में रेलवे ट्रैक पर बैठे किसान।

– भारत बंद के कारण केरल में जन-जीवन अस्त-व्यस्त। राज्य में सत्ताधारी एलडीएफ और विपक्षी कांग्रेस ने किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है। पूरे राज्य में सभी शिक्षण संस्थान, दुकानें, दफ्तर बंद रहेंगे। हालांकि, निजी वाहनों की आवाजाही पर रोक नहीं है लेकिन कुछ इलाकों में जबरन वाहन रोके जाने की खबरें भी मिली हैं। राज्य शिक्षा विभाग ने सोमवार को होने वाले कुछ परीक्षाओं की तारीख भी बदल दी है। 

-प्रदर्शनकारी किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर जाम लगाया। ट्रैफिक यूपी गेट से डायवर्ट किया गया। शाम 4 बजे प्रदर्शन खत्म होने पर खुलेगा रास्ता। 

किसान नेता राकेश टिकैत ने भारत बंद को लेकर कहा कि कुछ भी सील नहीं किया गया है। एंबुलेंस, डॉक्टरों सहित सभी आपातकाली सुविधाएं जारी रहेंगी। उन्होंने कहा कि हमने कुछ सील नहीं किया, हम बस संदेश देना चाहते हैं। 

– किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने पंडित श्री राम शर्मा स्टेशन के एंट्री-एग्जिट को बंद किया।

 भारत बंद के मद्देनजर दिल्ली-अमृतसर नेशनल हाइवे को किसानों ने किया जाम।

– दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्रदर्शन के मद्देनजर गाजीपुर सीमा को बंद किया। 

– किसानों ने शंभु बॉर्डर पर लगाया जाम।

कृषि मंत्री ने की बातचीत की अपील

किसानों ने 27 सितंबर के भारत बंद की पूरी तैयारी कर ली है। इस बीच केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने एक बार फिर कहा कि मैं किसानों से आग्रह करता हूं कि वे आंदोलन छोड़कर वार्ता का रास्ता अपनाएं। तोमर ने रविवार को कहा कि सरकार किसानों की ओर से बताई गई आपत्ति पर विचार करने के लिए तैयार है। इससे पहले भी कई बार बात हो चुकी है। इसके बाद भी उन्हें लगता है कि कोई बात बची है तो सरकार उस पर जरूर बात करेगी।

ये विपक्षी पार्टियां दे रहीं भारत बंद को समर्थन

कांग्रेस और आरजेडी के अलावा आम आदमी पार्टी, मायावती की बहुजन समाज पार्टी, समाजवादी पार्टी और लेफ्ट पार्टियों ने भी भारत बंद का साथ देने का ऐलान किया है। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘भाजपा सरकार के काले कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलित किसानों के द्वारा कल बुलाए गए भारत बंद का समाजवादी पार्टी पूर्ण समर्थन करती है। किसान विरोधी काले कानूनों को वापस ले सरकार।’

बैंक यूनियन भी आए साथ

अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (एआईबीओसी) ने भी भारत बंद को अपना समर्थन देने की घोषणा की है। एआईबीओसी ने सरकार से संयुक्त किसान मोर्चा की मांगों पर उसके के साथ फिर से बातचीत शुरू करने और तीन विवादित कृषि कानूनों को रद्द करने का अनुरोध किया।

दिल्ली पुलिस अलर्ट पर

दिल्ली पुलिस ने भारत बंद के ऐलान के बाद 15 जिलों की पुलिस को अलर्ट पर रखा है । दिल्ली पुलिस ने भारत बंद से पहले राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती इलाकों में गश्त बढा दी है और अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया है। पुलिस के अनुसार, गश्त बढ़ा दी गई है, चौकियों पर, विशेष रूप से सीमावर्ती इलाकों में अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया गया है और राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले हर वाहन की पूरी जांच की जा रही है। बॉर्डर इलाके वाले मेट्रो स्टेशन और नई दिल्ली इलाके में आने वाले मेट्रो स्टेशन पर सीआईएसएफ, डीएमआरसी दिल्ली पुलिस के साथ अलर्ट पर रहेगी। 

बता दें कि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली मे विभिन्न बॉर्डरों पर पिछले दस महीनों से किसानों का आंदोलन जारी है। पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा आदि के किसान सरकार से कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं।

Share This Post