बिहार

बिहार : कैमूर में डबल मर्डर केस का गिरफ्तार आरोपियों ने किया खुलाशा

कैमूर पुलिस ने बेलांव थाना क्षेत्र के तरांव गांव में दोहरे हत्याकांड के मुख्य आरोपित सहित तीन बदमाशों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार बदमाशों के पास से घटना में प्रयुक्त दो कुल्हाड़ी व दो मोबाइल बरामद किया गया है। गिरफ्तार अपराधियों में तरांव निवासी मुख्य आरोपित कामेश्वर बिंद के अलावा जितेन्द्र बिंद व पिंटू बिंद शामिल हैं। इसके पहले भी इस मामले में दो आरोपितों को जेल भेजा जा चुका है। एसपी दिलनवाज अहमद ने अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में पिता-पुत्र की हत्या मामले का खुलासा किया।

एसपी ने बताया कि वैज्ञानिक अनुसंधान में गिरफ्तार कामेश्वर बिंद ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। कामेश्वर ने स्वीकार किया कि उसने गांव के अन्य तीन लोगों रामेश्वर बिंद, मन्नू बिंद व सुग्रीव बिंद के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था। उसके बयान के आधार पर तीन लोगों को हिरासत में लेकर गहन पूछताछ की गई, जिसमें तीनों ने घटना में अपनी संलिप्तता से इंकार किया। पूछताछ में के दौरान दो आरोपियों ने बताया कि मृतक के परिवार के कुछ लोगों द्वारा उनके घर की महिलाओं के साथ गलत काम किया गया था। इसी आक्रोश में आकर उन दोनों की हत्या कर दी। 

जब कामेश्वर से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने पुलिस को बताया कि पिंटू बिंद व जितेन्द्र बिंद के साथ मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया था। उसने कहा कि इस घटना में रामेश्वर बिंद, मन्नू बिंद व सुग्रीव बिंद का इस घटना से कोई संबंध नहीं है। इसके बाद रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र के उगहनी निवासी पिंटू बिंद व मलांव के जितेंद्र को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में पिंटू व जितेंद्र ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की और बताया कि मृतक के परिवार के कुछ लोगों द्वारा उनके घर की महिलाओं के साथ गलत काम किया गया था। इसी आक्रोश में आकर उन दोनों की हत्या कर दी। इनकी निशानदेही पर कांड में प्रयुक्त दो कुल्हाड़ी को अभियुक्तों के घर से बरामद किया गया। पुलिस को दिगभ्रमित करने के लिए दूसरे व्यक्ति के दरवाजे व रास्ते में खून का दाग लगाया गया था।

अपहरण मामले में जेल जा चुका है कामेश्वर
एसपी ने बताया कि कामेश्वर बिंद का आपराधिक इतिहास भी पाया गया है। वह पूर्व में हत्या व फिरौती के लिए अपहरण के मामले में जेल जा चुका है। शेष दो अभियुक्तों के आपराधिक इतिहास का पता लगाया जा रहा है। इसके पूर्व भी पुलिस ने सुदर्शन बिंद व अंगद बिन्द को उक्त कांड में गिरफ्तार कर जेल भेजा चुका है। एसपी ने बताया कि इस कांड के उद्भेदन करने के लिए एसडीपीओ अजय प्रसाद के नेतृत्व में परिक्ष्यमान उपाधीक्षक मो. मुसिर, मृदुलता, बेलांव थानाध्यक्ष सुहैल अहमद, महिला थानाध्यक्ष शुभेन्दु्र कुमार, भगवानपुर थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन, सब-इंस्पेक्टर रामकल्याण यादव व डीआयू टीम का दल गठित किया गया था। ज्ञात हो कि 30 मई 2020 को बेलांव थाना क्षेत्र के तरांव गांव में बंशी चंद्रवंशी व बेटे ललन चंद्रवंशी की अपराधियों ने सोए अवस्था में धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी थी।

Share This Post