Bihar STET Exam
Education

Bihar B.Ed CET Exam -2020: कोविड प्रोटोकॉल का पालन होगा पालन, इन सामग्री पर है पाबंदी, परीक्षा से पहले पढ़ लें दिशा निर्देश


बिहार बीएड CET परीक्षा 2020: बिहार बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 (सीईटी-बीएड.-2020) की तैयारी पूरी हो गई है। यह परीक्षा 22 सितंबर को सूबे के 10 शहरों पटना, गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, आरा, छपरा, दरभंगा, मधेपुरा, मुंगेर व पूर्णिया में 278 परीक्षा केंद्रों पर होगी। इन परीक्षा केंद्रों पर कुल 1,22,331 परीक्षार्थी परीक्षा शामिल होंगे। इसमें नियमित बीएड (द्विवर्षीय) के 1,16,130 छात्र, दूरस्थ शिक्षा से बीएड के 6,020 छात्र एवं शिक्षा शास्त्री के 181 छात्र सम्मिलित होंगे।

राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो. अजीत कुमार सिंह ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि 15 सितंबर से अभ्यर्थी अपना ई-एडमिट कार्ड दो प्रति में (छात्र प्रति एवं कार्यालय प्रति) सीईटी बीएड -2020 की वेबसाइट से डाउनलोड कर रहे हैं। अब तक 98 हजार अभ्यर्थी अपना ई-एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं। यह परीक्षा मानव संसाधन विकास मंत्रालय व यूजीसी द्वारा तय कोविड-19 से

सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए ली जाएगी।
सुबह नौ बजे से होगा प्रवेश : परीक्षा 22 सितंबर को पूर्वाहन 11 से अपराह्न एक बजे तक होगी। केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त वीक्षकों, पदाधिकारी, कर्मचारियों एवं पुलिस बल को सुबह 8:30 बजे पहुंचना है। परीक्षार्थियों का प्रवेश सुबह नौ बजे से होगा। प्रवेश द्वार पर परीक्षार्थियों, पदाधिकारियों, कर्मचारियों एवं पुलिस बल की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। मानक तापक्रम से जिनके शरीर का तापक्रम अधिक होगा उनकी परीक्षा अलग बैठाकर ली जाएगी। सभी परीक्षार्थियों को अपने साथ सैनिटाइजर की छोटी बोतल लाना व मास्क पहनना अनिवार्य है। वीक्षक व कर्मचारी भी मास्क व ग्लव्स में रहेंगे। केन्द्राधीक्षकों को परीक्षा केंद्र का पूर्ण सैनिटाइजेशन कराना है। 

मुख्य द्वार पर जांच
मुख्य प्रवेश गेट पर ही स्टैटिक दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी महिला पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल तथा परीक्षा केंद्र के एक वरीय शिक्षक द्वारा अभ्यर्थियों की जांच की जाएगी।  

इन सामग्री पर है पाबंदी
मोबाइल, कैलकुलेटर, ब्लूटूथ डिजिटल डायरी, पामटॉप, पीडीए एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामग्री का केंद्र के अंदर प्रवेश पर पाबंदी रहेगी। परीक्षा संचालन की मार्गदर्शिका के अनुरूप परीक्षा केंद्र के अंदर मोबाइल फोन अथवा कोई भी लिखित सामग्री, प्रवेश पत्र पर कोई लेख, सादा कागज, क्लिपबोर्ड,  कैलकुलेटर, ब्लूटूथ उपकरण, डिजिटल डायरी, पीडीए या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाना वर्जित है। ये सामान ले जाने पर उम्मीदवारी रद कर दी जाएगी।

शहरो में कितने सेंटर 
बनाए गए परीक्षा केंद्रों की नगरवार संख्या इस प्रकार है- पटना में 84, गया में 19, भागलपुर में 26, मुजफ्फरपुर में 30, आरा में 17, छपरा में 10, दरभंगा में 36, मधेपुरा में 24, मुंगेर में 10 व पूर्णिया में 22 केंद्र। 

प्रोटोकॉल का पालन होगा
रविवार को पटना के एसकेएम हॉल में कदाचार मुक्त संचालन की समीक्षा की गई। केंद्रों पर सभी को कोविड प्रोटोकॉल का पालन  करना होगा। मास्क का प्रयोग, सेनेटाइजर का प्रयोग, 2 गज की सामाजिक दूरी मेंटेन करने, ग्लब्स का प्रयोग करने आदि का निर्देश दिया गया है। इसका अनुपालन कर्मी से लेकर परीक्षार्थी तक सभी को करना होगा।

30 सितंबर को आ जाएगा रिजल्ट
प्रो. सिंह ने कहा कि रिजल्ट 30 सितंबर को आएगा। तीन अक्टूबर से 23 नवंबर तक ऑनलाइन काउंसलिंग एवं सात से 18 दिसंबर तक स्पॉट काउंसलिंग से मेधा तथा आरक्षण के आधार पर परीक्षार्थियों के नामांकन के लिए कॉलेज आवंटित किए जाएंगे। चयनित अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों के सत्यापन के बाद नामांकन के लिए बीएड कॉलेज आवंटित किए जाएंगे। नामांकन की प्रक्रिया की प्रस्तावित तिथि 18 दिसंबर तक पूरी हो जाए इसको लेकर टीम तत्पर है।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer