Tejasvi Yadav Nomination
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

Bihar Election 2020: मां राबड़ी और भाई तेज के पैर छू नामांकन दाखिल करने निकले तेजस्वी

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर नेता प्रतिपक्ष और महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी प्रसाद यादव नामांकन के लिए हाजीपुर के लिए घर से निकले। घर से निकलने से पहले उन्होंने अपनी मां और प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से आशीर्वाद लिया।

इस दौरान लालू प्रसाद यादव की तस्वीर हाथों में लिए राबड़ी देवी भावुक हो उठीं। घर से नामांकन के लिए बेटे के निकलने से पहले मीडिया से मुखातिक बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने लालू से जुड़े सवाल पर कहा कि- आज परिवार, पार्टी और पूरा बिहार लालूजी को मिस कर रहा है। बेटे को आर्शीवाद देते हुए उन्होंने कहा कि- जनता ने आशीर्वाद दे दिया है। माता-पिता, भाई-बहन, पार्टी के लोगों का आशीर्वाद है। बिहार की जनता का आशीर्वाद है, तेजस्वी मुख्यमंत्री जरूर बनेंगे। तेजस्वी के रवाना होते समय उनके साथ बड़े भाई तेज प्रताप समेत पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, राष्ट्रीय महासचिव भोला यादव सहित अन्य पार्टी नेता साथ थे।

नामांकन दाखिल करने से पहले आज मैं राघोपुर से नामांकन भरने जा रहा हूं, राघोपुर की जनता ने हमेशा हम लोगों का साथ दिया। राघोपुर की जनता हमें एक बार फिर जीताने का काम करेगी। हमारी सरकार बनती है तो पहली कैबिनेट मीटिंग में पहला हस्ताक्षर 10 लाख नौजवानों को स्थायी रोज़गार देने के लिए होगा। उन्होंने कहा कि दूसरी बात ये है कि समान काम समान वेतन की जो मांग नियोजित शिक्षकों लंबे समय कर रही है उनको मैं वादा करता हूं कि हमारी सरकार बनते ही हम उनकी मांगे पूरी करेंगे।

इससे पहले बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद यादव-राबड़ी देवी के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने मंगलवार को समस्‍तीपुर की हसनपुर सीट से पर्चा भरा था। उनके साथ मुख्‍यमंत्री पद के लिए महागठबंधन के उम्‍मीदवार तेजस्‍वी यादव भी मौजूद थे।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने नीतीश पर साधा निशाना
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा अपने भाषणों में 15 साल पहले के शासन की याद दिलाए जाने को लेकर पलटवार किया है। मंगलवार को भोजपुरी में किए अपने ट्वीट में लालू प्रसाद ने कहा है कि नीतीश के भूतकाल में जिये के आदत बन गइल बा और खासकर 30 साल पहिले के बात सपना में भी करे लऽन। ज्यादा ना 5 वर्ष पहले के आपन वादा के फालूदा कईसे बनइले बाड़न सुनल जावऽ। मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन भाजपा में नहीं जाएंगे।

वहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपनी ट्वीट में आरोप लगाया है कि वर्तमान, भविष्य और अपने 15 वर्ष का भूतकाल छोड़कर मुख्यमंत्री 30-40 साल पुरानी कब्र खोद रहे हैं। जीवित मुद्दे छोड़ मुर्दों के पीछे पड़े हैं। कहा कि बेतहाशा बेरोजगारी, पलायन, बदहाल शिक्षा, स्वास्थ्य और विधि व्यवस्था पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। अब हिसाब भी चाहिए और जवाब भी चाहिए।

Share This Post