Chirag Paswan
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

Bihar Election: NDA में सीटों के बंटवारे की घोषणा संभव, LJP के गठबंधन में बने रहने पर सस्पेंस बरकरार

बिहार विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ राजग के ऑल इज वेल के दावे के बावजूद अंदरूनी उठापटक जारी है। यही वजह है एनडीए अब तक सीट शेयरिंग की घोषणा तक नहीं कर सकता है जबकि विपक्षी महागठबंधन ने अपने साझीदारों के साथ सीट पर फंसे पेच को सुलझाते हुए सीट शेयरिंग की घोषणा कर दी है।

उधर लोक जनशक्ति पार्टी की अहम संसदीय बैठक संस्थापक रामविलास पासवान की सेहत का हवाला देते हुए स्थगित कर दिया गया। लोजपा अध्यक्ष और उनके बेटे, चिराग पासवान ने ट्वीट किया कि उनके पिता को शनिवार देर रात दिल का ऑपरेशन करना पड़ा। LJP ने एनडीए में बने रहने पर सस्पेंस बनाए रखा है।

नाम नहीं छापने की शर्त पर पार्टी के नेता ने बताया कि भाजपा और जदयू के बीच कुछ सीटों पर साझा समझौते समेत नए घटनाक्रमों के मद्देनजर पार्टी की संसदीय दल की बैठक रविवार दोपहर बाद आयोजित की जा सकती है।

चिराग ने की प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ
अहम बैठक की पूर्व घोषित कार्यक्रम से पहले ट्वीट कर पीएम नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करने वाले चिराग पासवान ने 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के बारे में संकेत दिए। शनिवार को पार्टी की अहम बैठक से पहले लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने मोदी की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया और बिहार के गौरव को बहाल करने के उद्देश्य से तैयार अपना बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट विज़न डॉक्यूमेंट 2020 के बारे में भी बात की।

चिराग ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मुझे पीएम के साथ एक सांसद के रूप में काम करने का अवसर मिला है, जो अपने कुशल नेतृत्व के लिए दुनिया भर में जाने जाते हैं। पीएम ने दुनिया में भारत का झंडा ऊंचा रखा है और आम लोगों के जीवन स्तर में सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं। चिराग ने सभी से बिहार के गौरव को बहाल करने के लिए काम करने के लिए आशीर्वाद मांगा ताकि सभी लोजपा उम्मीदवार पीएम के हाथों को मजबूत कर सकें। वहीं लोजपा प्रवक्ता विकास मिश्रा ने कहा कि पार्टी प्रमुख ने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं से 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी करने को कहा है।

उन्होंने कहा कि चिराग पासवान को सीट-बंटवारे पर अंतिम निर्णय लेने के लिए पार्टी की ओरसे अधिकृत किया गया है। वे जो कुछ भी तय करेंगे हमलोग उसके साथ हैं। कहा कि संसदीय बोर्ड की बैठक एक छोटी सूचना पर भी आयोजित की जा सकती है। बीते कुछ दिनों में चिराग ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है, लेकिन बावजूद भी सीट शेयरिंग को लेकर गतिरोध बरकरार है। हालांकि एलजेपी सूत्रों ने बताया यह ज्ञात नहीं है कि बैठक कब होगी। वहीं कुछ लोजपा नेताओं ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि पार्टी किसी दबाव में नहीं झुकेगी। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा के पीछे मजबूती से खड़ी है।

एनडीए में सीट शेयरिंग गतिरोध मुख्य रूप से पसंदीदा सीटों को लेकर है। भाजपा और जेडी-यू अगर बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला करते हैं और अपने -अपने कोटा में LJP और HAM को समायोजित करेंगे तो यह एलजेपी के एनडीए में बने रहने को और अधिक जटिल बना सकता है।  

Share This Post