बिहार

बिहार पंचायत चुनाव: जनता पुराने चेहरों से दिखी नाराज, नए उम्मीदवारों के सिर सजाया ताज

राज्य में दूसरे चरण के पंचायत चुनाव में मतदाताओं ने नए चेहरों पर अधिक भरोसा जताया है। अधिकतर पुराने उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा है। इस चरण में 34 जिलों के 48 प्रखंडों की 692 पंचायतों की मतगणना हुई। रोहतास की आठ में से आठ और नवहट्टा की 11 में से 10 सीट पर नए उम्मीदवारों ने चुनाव जीता। 

बेगूसराय के भगवानपुर में 15 में से 14 मुखिया को सीट गंवानी पड़ी। पंसस के 21 पदों में 20 पदों पर नए चेहरे आए। नालंदा में 12 मुखिया पद के लिए सात पर नये चुने गए। 12 में सात महिलाएं हैं। मोहनियां में चार ने कुर्सी बचाई, जबकि पांच पर नए चेहरे काबिज हुए। 

सीवान सदर प्रखंड की प्रमुख व उप प्रमुख हारे गए। हाजीपुर में मुखिया व जिप पदों पर 90% नए चेहरे चुनाव जीते हैं। नवादा में मतगणना जारी होने तक 70% नए प्रत्याशियों को कामयाबी मिली। बक्सर के राजपुर में 19 में से 15 में नए मुखिया चुने गए तो भोजपुर में आधी सीटों पर पुराने तो आधी सीटों पर नये चेहरे काबिज हुए। 

उत्तर बिहार के सात जिलों के 15 प्रखंडों में पश्चिमी चंपारण के चनपटिया, मधुबनी के पंडौल और रहिका, समस्तीपुर का ताजपुर, पूसा व समस्तीपुर, पूर्वी चंपारण का मधुबन, फेनहारा व तेतरिया, सीतामढ़ी का चोरौत व नानपुर और दरभंगा का बेनीपुर व अलीनगर, मजफ्फरपुर के मड़वन व सरैया प्रखंड शामिल हैं। अब तक मिले चुनाव परिणाम के मुताबिक अधिकतर सीटों पर वोटरों ने नये चेहरों पर भरोसा जताया है। इनमें युवाओं की संख्या भी उल्लेखनीय है। 

कोसी-सीमांचल में भी दिखा यही ट्रेंड

कोसी, सीमांचल और पूर्वी बिहार के इलाकों में भी ग्रामीणों का यही ट्रेंड दिख रहा है। सुपौल जिले के प्रतापपुर प्रखंड की नौ में से छह पंचायतों में जनता ने नए चेहरे को मौका दिया है। सहरसा के कहरा प्रखंड की 12 पंचायतों में नौ, मधेपुरा जिले में शाम पांच बजे तक आठ घोषित परिणाम में मुखिया पद पर सभी नए चेहरे को जीत मिली। 

वहीं पूर्णिया के बनमनखी की 24 पंचायतों में भी 60 फीसद से अधिक नए चेहरे को सफलता मिली है। अररिया जिले में 30 फीसद ही निवर्तमान मुखिया अपनी सीट बचाने में सफल रहे। कटिहार के चार प्रखंडों में 80 प्रतिशत नए चेहरे विजयी हुए हैं। खगड़िया के परबत्ता की 12 पंचायतों में से छह में नए चेहरे जीते हैं। 

जमुई के अलीगंज प्रखंड की 13 पंचायतों में 11 नए चेहरे पर लोगों ने भरोसा जताया है। मुंगेर में भी सात में से छह पंचायत में नए चेहरे विजयी हुए, जबकि बांका की 16 पंचायतों में 60 फीसद नए चेहरे विजयी हुए। भागलपुर जिले के जगदीशपुर प्रखंड की 14 पंचायतों में से 10 में नए चेहरे को जीत मिली है।

Share This Post