बिहार

Bihar Weather Forecast: बिहार में कई नदियों का जलस्तर बढ़ा, महानंदा खतरे के निशान से ऊपर

Bihar Weather Alert, forecast, IMD report, News LIVE Updates : करीब दो दशक बाद बिहार में मॉनसून (Monsoon) बेहद सक्रिय अवस्था में है. बंगाल की खाड़ी में चक्रवात उठने से बिहार में एक बार फिर मानसून सक्रिय हो गया है. मौसम विभाग ने अगले दो दिनों के लिए भारी बारिश का हाई अलर्ट जारी किया है. राज्य में अगले 36 घंटे और मॉनसून सक्रिय रहेगा. इस दौरान समूचे प्रदेश में खासतौर पर उत्तर- मध्य और उत्तर-पूर्व बिहार में अच्छी से भारी बारिश होने के आसार हैं. इसको लेकर पूरे राज्य में अलर्ट घोषित किया गया है. कुछ जिलों मसलन पश्चिमी-पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, अररिया, किशनगंज और कुछ अन्य जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है. ठनका गिरने को लेकर भी अगाह किया गया है.

सड़कों पर बह रहा है पानी 

कटिहार के कदवा में विनाशकारी बाढ़ का संकेत दे रहे हैं. बाढ़ के कारण कदवा के एक दर्जन से भी अधिक गांवों धनगामा, मुकुरिया, मंझेली, मोहना, परलिया, कुजिबन्ना, कबैया, महादलित टोला कदवा, नंदनपुर, बड़ाबांध, भर्री आदि गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. सोनैली- चांदपुर पीडब्ल्यूडी पथ अंतर्गत काली मंदिर के निकट डायवर्सन के ऊपर लगभग 4 फीट पानी का बहाव हो रहा है. जिससे यातायात व्यवस्था ठप हो गई है.

तेजी से फैल रहा है महानंदा का पानी 

महानंदा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से उपर पहुंच गया है. कटिहार जिले के कदवा प्रखंड के सोनैली-पूर्णिया मुख्य सड़क के शिवगंज डायवर्सन के ऊपर से पानी का हो रहा तेज बहाव, दर्जन भर से अधिक गांवों का प्रखंड व जिला मुख्यालय से सड़क संपर्क हुआ भंग, इसके साथ ही खेत खलिहानों व निचले इलाकों में महानंदा का पानी तेजी से फैल रहा है.

बढ़ने लगा गंडक बराज का जल स्तर, छोड़ा गया एक लाख क्यूसेक पानी

इंडो नेपाल सीमा पर स्थित गंडक बराज से रविवार की दोपहर तक लगभग एक लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया. इससे तटवर्ती वन क्षेत्र समेत पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के समीपवर्ती क्षेत्रों में पानी का जमाव होने की आशंका बढ़ गयी है. इससे ग्रामीणों की परेशानियां बढ़ गयी हैं. गंडक बराज के अधिकारियों की माने तो नेपाल में हो रही बारिश से तराई और पहाड़ी क्षेत्रों में जनजीवन अस्त व्यस्त होने लगा है. नेपाल से छूटे पानी के कारण गंडक बराज का जल स्तर रविवार की सुबह से लगातार बढ़ने के क्रम में है.

खतरे के निशान से ऊपर बह रही है महानंदा

महानंदा, गंगा, कोसी व बरंडी नदी के जल स्तर में रविवार को भी वृद्धि दर्ज की गयी है. नदी का जल स्तर छह घंटे के दौरान करीब दो सेंटीमीटर से 10 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी है. जबकि महानंदा नदी अधिकांश स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. नदी के जल स्तर में वृद्धि से कई क्षेत्रों में कटाव होने लगा है. महानंदा नदी झौआ में खतरे के निशान से 23 सेमी ऊपर बह रही है. जबकि यह नदी पार बहरखाल में खतरे के निशान से 17 सेमी ऊपर है.

रविवार को यहां अधिक बारिश

धैगाब्रिज(सीतामढ़ी) 210 मिमी

माधवपुर(मधुबनी) 159.6 मिमी

मोतिहारी 112 मिमी

वीरपुर(मधेपुरा) 107 मिमी

सुपौल 100 मिमी

आठ जिलों में छह जून से अब तक 300 मिमी से अधिक वर्षा

किशनगंज 611

अररिया 509

पूर्णिया 485

सुपौल 365

पू. चंपारण 326

गोपालगंज 311

सारण 304

प. चंपारण 300

बिहार के सभी जिलों में हुई अच्छी बारिश 

पटना में सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया. रात का तापमान भी सामान्य से कम रहा है. इस मॉनसूनी सीजन की खास बात है कि प्रदेश में इसका समान वितरण हुआ है. प्रदेश में सामान्य तौर पर कोई भी एक जिला ऐसा नहीं है, जहां सामान्य से कम बारिश दर्ज की गयी है.

Share This Post