High security number plate
टेक & ऑटो

हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट बुक करना हुआ और भी आसान, बस गाड़ी का नंबर डालकर हो जाएगा काम

हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) और कलर कोडेड स्टिकर को दिल्ली-एनसीआर में अनिवार्य कर दिया गया है। इसके बगैर वाहन चलाने पर भारी चालान भरना पड़ सकता है। आपको बता दें कि सरकार ने हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट और कलर कोडेड स्टिकर बुक करने के लिए एक वेबसाइट शुरू की है जिस पर जाकर आप HSRP के लिए आवेदन कर सकते हैं, हालांकि इस वेबसाइट पर वाहनों की काफी सारी डीटेल्स भरनी पड़ रही हैं जिसमें काफी समय लगता है, नतीजतन बहुत सारे लोगों ने अभी तक HSRP के लिए आवेदन नही किया है। लोगों की इन दिक्कतों को समझते हुए अब HSRP बुक करने का प्रोसेस काफी आसान कर दिया गया है। इसके लिए आपको अपने वाहन की ज्यादा डीटेल्स नहीं भरनी पड़ेंगी।

आपको बता दें कि हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट और कलर कोडेड स्टिकर अनिवार्य होते ही लोगों के बीच इसे लेकर काफी घबराहट है, लोग जल्द से जल्द इसे बुक करने के लिए वेबसाइट पर आ जा रहे हैं और इससे कई बार वेबसाइट क्रैश भी हो जा रही है। नतीजतन इसमें काफी समय बर्बाद हो रहा है। साथ ही HSRP बुक करने का प्रोसेस काफी लंबा है जिससे ग्राहकों को काफी दिक्क्त हो रही है। दरअसल HSRP और कलर कोडेड स्टिकर बुक करने के लिए वाहन की काफी ज्यादा डीटेल्स देनी पड़ती है जिसमें काफी समय लगता है।

हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट और कलर कोडेड स्टिकर बुक करने में लगातार वाहन मालिकों को हो रही दिक्क्त को देखते हुए हाई कोर्ट ने वाहन मालिकों को सरकार की तरफ से और वक्त देनी की सलाह दी है। आपको बता दें कि HSRP और कलर कोडेड स्टिकर को बुक करने में ग्राहकों को दिक्क्त ना आए इसलिए इनकी बुकिंग की प्रक्रिया को सरल बना दिया गया है।

ऐसा करने के लिए HSRP बुक करने के क्राइटेरिया को कम कर दिया गया है। अब ग्राहकों को HSRP और कलर कोडेड के लिए आवेदन करने के लिए पहले के मुकाबले तकरीबन आधी ही डीटेल्स देनी पड़ेंगी जिससे न सिर्फ कम समय बर्बाद होगा बल्कि वाहन से जुड़ी हुई ज्यादा जानकारियां भी जुटानी नहीं पड़ेंगी।

bookmyhsrp वेबसाइट को अब Vahan डेटाबेस के साथ जोड़ दिया गया है। इसलिए, वाहन नंबर दर्ज करने के बाद, इंटीग्रेटेड एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर ऑटोमैटिकली वाहन से जुड़ी जानकारियां जुटा लेता है जिनमें वाहन के क्लास, ईंधन प्रकार, चेसिस नंबर (VIN नंबर) और इंजन नंबर जैसी जानकारियां शामिल हैं। इस बदलाव के बाद HSRP बुकिंग की प्रक्रिया 12 चरणों से कम होकर केवल 6 चरणों में सिमट गई है। HSRP की बुकिंग करते समय, ग्राहक को केवल इंजन और चेसिस नंबर के अंतिम पांच अंकों को दर्ज करने का निर्देश दिया जाता है। अगर डेटा बेमेल हो जाता है तो ग्राहक के पास अब आरसी और फ्रंट और रियर नंबर प्लेट की तस्वीर अपलोड करने का विकल्प है। इस बदलाव के बाद अब ग्राहक बड़ी ही आसानी के साथ HSRP और कलर कोडेड स्टिकर को बुक कर सकता है।

आपको बता दें कि 14 नवंबर के बाद, कंपनी ने एचएसआरपी के लिए 3.8 लाख ऑर्डर और कलर-कोडेड स्टिकर के लिए 1.9 लाख ऑर्डर प्राप्त करने का दावा किया है। कुल मिलाकर, होम डिलीवरी के लिए 52,709 ऑर्डर प्राप्त हुए हैं और अब तक 47,380 HSRP वाहनों में फिट किए जा चुके हैं। यहां तक ​​कि आउटलेट्स की संख्या बढ़ाई गई है जहां ग्राहक HSRP और कलर-कोडेड स्टिकर प्राप्त कर सकते हैं।

Share This Post