Coronavirus

अगले साल की शुरुआत तक लोगों को मिल जाएगा कोरोना टीका, आधा असर भी कर देगा संकट खत्म

अमेरिका में संक्रामक रोगों के बड़े एक्सपर्ट एंथोनी फौसी ने उम्मीद जताई है कि कोविड-19 वैक्सीन इस साल के अंत या 2021 की शुरुआत तक सुरक्षित रूप से उपलब्ध हो जाएगी। अमेरिका के न्यूज प्रसारक पीबीएस के साथ इंटरव्यू में फौसी ने कहा कि नई वैक्सीन मिलने में इससे अधिक समय नहीं लगेगा। फौसी ने कहा कि एक साल के भीतर दुनिया को वापस सामान्य स्थिति में लाने के लिए आधा प्रभावी टीका भी पर्याप्त होगा। 

हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि चुनाव के दिन यानी 3 नवंबर तक वैक्सीन तैयार हो सकती है। फौसी मानते हैं कि आम लोगों को टीका उपलब्ध होने में 2021 में प्रवेश हो सकता है। 

रूसी वैक्सीन कैंडिडेट को लेकर एक्सपर्ट ने कहा कि वैक्सीन होने का मतलब यह नहीं कि इसे जनता को लगा दिया जाए। आपको पहले यह देखने की जरूरत है कि यह सुरक्षित और प्रभावी है या नहीं। अहम टेस्ट से पहले ही कोरोना वैक्सीन को अप्रूव करने के फैसले को लेकर इसकी सुरक्षा और प्रभाव पर सवाल उठ रहे हैं। रूस में अक्टूबर से लोगों को यह टीका लगाने की तैयारी हो रही है। विशेषज्ञ मानते हैं कि मॉस्को के प्लान से दूसरी सरकारों पर भी रेग्युलेटर से जल्दी टीका पास कराने या अहम कदमों को छोड़ देने का दबाव होगा जो जन स्वास्थ्य को रिस्क पर डाल सकता है। 

इस बीच रूस ने कोरोना वायरस की वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर दिया है। स्वास्थ मंत्रालय ने शनिवार को इसकी जानकारी दी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को कोरोना वैक्सीन बनाने की घोषणा की थी। इस वैक्सीन का नाम 1957 में मॉस्को से लांच की गई स्पेस सेटेलाइट स्पूतनिक वी के नाम पर रखा गया है।    
  
इस वैक्सीन को गामाले साइंटिफिक रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा बनाया गया है जो मॉस्को के पास स्थित है। रूस के स्वास्थ मंत्री मिखाइल मुराशको ने बुधवार को कहा था कि रुस के नागरिकों को वैक्सीन लगने के बाद रुस अन्य देशों को भी यह वैक्सीन मुहैया कराएगा।    

Share This Post