समस्तीपुर

समस्तीपुर में वनपाल की भर्ती परीक्षा में ब्लूटूथ लगाकर नकल करते परीक्षार्थी गिरफ्तार

समस्तीपुर : केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) के अंतर्गत पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग में वनपाल की लिखित परीक्षा रविवार को संपन्न हुई। इसमें कर्पूरीग्राम स्थित प्रभावती रामदुलारी इंटर उच्च विद्यालय में एक छात्र कान में ब्लूटूथ लगाकर कदाचार करते हुए पकड़ा गया। छात्र को परीक्षा केंद्र के केंद्राधीक्षक धीरेंद्र मोहन मुकुल ने निष्कासित करते हुए पुलिस को सौंप दिया। परीक्षा अधिनियम के अनुसार ब्लूटूथ का प्रयोग एक संज्ञेय अपराध मामले में मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई। इसमें बताया कि रविवार को वनपाल की परीक्षा में कमरा संख्या छह में हसनपुर थाना क्षेत्र के राम विलास यादव का पुत्र विकास कुमार परीक्षा दे रहा था। जांच के क्रम में सहायक केंद्राधीक्षक सुभीत कुमार सिंह एवं रनोज कुमार ने छात्र के कान से ब्लूटूथ लगाकर कदाचार करते हुए पकड़ा। छात्र के कान से ब्लूटूथ निकालने का प्रयास किया गया पर यह निकल नहीं पाया। जांच के क्रम में उसके पैंट के नीचे जंघिया में सैमसंग का छोटा मोबाइल भी बरामद किया गया। परीक्षा जिला मुख्यालय के 13 केंद्रों पर ली गई। परीक्षा सुबह 10 से दोपहर 12 बजे संपन्न हुई। कुल 5030 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी। इस परीक्षा में कुल 100 वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे गए थे जो क्रमश: चार खंडों में विभाजित थे। इन खंडों में अनिवार्य विषय में सामान्य ज्ञान, रिजनिग व हिदी एवं ऐच्छिक विषय गणित या जीव विज्ञान शामिल थे। परीक्षा को लेकर सुबह से ही केंद्रों पर परीक्षार्थियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया था। हर परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले कोरोना गाइडलाइन के तहत पहले परीक्षार्थियों की थर्मल स्क्रीनिग की गई। इसके बाद परीक्षार्थियों को मास्क लगाकर ही परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश दिया गया। अंदर प्रवेश से पहले उनकी सख्ती के साथ चेकिग की गई। इसके बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया। परीक्षा को लेकर केंद्राधीक्षकों, स्टैटिक मजिस्ट्रेट, पेट्रोलिग मजिस्ट्रेट, केंद्र प्रेक्षक, उड़नदस्ता दल, महिला दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी आदि की तैनाती की गई थी। इलेक्ट्रानिक गजट लेकर जाने की थी मनाही

परीक्षा में किसी प्रकार के इलेक्ट्रानिक गजट लेकर जाने पर पूरी पाबंदी रही। इस बाबत स्पष्ट निर्देश दिया कि किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में मोबाइल फोन, कैलकुलेटर, ब्लूटूथ, वाईफाई गैजेट, इलेक्ट्रॉनिक पेन, पेजर इत्यादि जैसी सामग्री व्हाइटनर, इरेजर एवं ब्लेड जैसी सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं रही। केंद्राधीक्षक ने कराया फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन

परीक्षा केंद्रों पर केन्द्राधीक्षक ने कोविड-19 के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन कराया। अभ्यर्थियों को प्रवेश गेट पर फिजिकल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए सुरक्षित प्रवेश एवं सीधे परीक्षा कक्ष तक पहुंचाने की व्यवस्था रही। सभी का थर्मल स्कैनिग किया जा रहा था। केंद्रों पर सैनिटाइजर और हैंडवाश की थी व्यवस्था

कोरोना को देखते इस बार सभी परीक्षा केंद्रों पर काफी सख्ती देखी गई। सभी कोटि के पदाधिकारी, कर्मी, अभ्यर्थी मास्क के साथ रहे। सभी परीक्षा केंद्रों के गेट पर सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा नल, चापाकल, बेसिन के पास हैंडवाश, साबुन की समुचित व्यवस्था भी थी। इन केंद्रों पर परीक्षार्थियों ने दी परीक्षा

संत कबीर कॉलेज में 527, जीकेपी कॉलेज कर्पूरीग्राम में 410, होली मिशन हाई स्कूल में 397, जेपी सेंट्रल स्कूल 399, तिरहुत एकेडमी में 333, प्रभावति राम दुलारी इंटर विद्यालय कर्पूरीग्राम में 313, गोल्फ फिल्ड रेलवे कॉलोनी उच्च माध्यमिक विद्यालय में 324, इंटर श्री सुंदर उच्च विद्यालय मुक्तापुर, मोडल इंटर विद्यालय में 283, विधि महाविद्यालय में 288, आरएसबी इंटर विद्यालय में 281, सेंट्रल पब्लिक स्कूल और डीएवी स्कूल में 164 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए।

Share This Post