बिहार

कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों को ढेर कर बिहार के बेटे कैप्टन आशुतोष शहीद

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ रोकने के दौरान हुई गोलीबारी में बिहार के मधेपुरा जिले बेटे और कैप्टन आशुतोष शहीद हो गये। मधेपुरा जिले के घैलाढ़ प्रखंड के भतरंधा परमानपुर के वार्ड नंबर 17 के जागीर गांव निवासी आशुतोष (24) रबिन्द्र यादव के इकलौते बेटे थे। उनकी अभी शादी भी नहीं हुई थी। शहीद आशुतोष से एक बड़ी बहन खुशबू कुमारी की शादी हो चुकी है जबकि एक छोटी बहन अंशू कुमारी पीजी की पढ़ाई कर रही है।

पिता रबिन्द्र यादव को सेना के अधिकारी की ओर से शाम में बेटे की शहादत की सूचना मिली। बताया गया कि आतंकवादी रविवार की शाम को सीमा पार कर भारत में घुसपैठ करने के फिराक में थे। इस दौरान कैप्टन आशुतोष कुमार ने तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया। मुठभेड़ में चार सुरक्षाकर्मियों के साथ कैप्टन आशुतोष वीरगति को प्राप्त हुए। कैप्टन आशुतोष कुमार के शहीद होने की सूचना आधिकारिक तौर पर 5:30 बजे परिजनों को मिली। शहादत की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।

शहीद कैप्टन आशुतोष ने सैनिक स्कूल भुवनेश्वर से पढ़ाई पूरी करने के बद एनडीए की परीक्षा पास करके इंडियन मिलिट्री एकेडमी से 2018 में बतौर लेफ्टिनेंट 18 बटालियन मद्रास में भर्ती हुए थे। शहीद कैप्टन आशुतोष ने शनिवार की शाम सात बजे फोन पर पापा और मम्मी से बात की थी। इस दौरान कैप्टन आशुतोष कुमार ने परिजनों को बताया था कि वह दीपावली और छठ पूजा में छुट्टी लेकर घर आ रहे हैं।

Share This Post