बिहार

CM नीतीश ने सियासी संकट के विपक्ष के दावों को किया खारिज, बोले-हम चुनौतियों केे बारे में नहीं सोचते

अरुणाचल में जेडीयू विधायकों को भाजपा में शामिल करने को लेकर बिहार सरकार पर सियासी संकट की अटकलों और विपक्ष के दावों के बीच के बीच सीएम नीतीश कुमार सचिवालय पहुंचे। उन्‍होंने अधिकारियों के साथ विकास के कामों की समीक्षा की और नए साल की योजनाओं के बारे में चर्चा की। उन्‍होंने नए साल पर बिहार सरकार की डायरी और कैलेंडर का विमोचन भी किया। सीएम नीतीश ने नए साल पर बिहारवासियों को बधाई दी।

सीएम ने ग्रामीण विकास, आरटीपीएस और परिवहन विभाग के कामों की समीक्षा की। सचिवालय से बाहर निकलते समय पत्रकारों से बातचीत में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में कोई सियासी संकट नहीं है और सरकार अपना काम बखूबी कर रही है। कहा कि उनके कामकाज करने का तरीका अलग रहा है। वह शासन के हर पहलू को पहले खुद देखते हैं और फिर आवश्यकता मुताबिक योजनाओं को क्रियान्वित करते हैं। उन्‍होंने कहा कि हम लोग चुनौतियों के बारे में नहीं सोचते। हमारे लिए जनता का काम महत्‍वपूर्ण है। उन्‍होंने कहा, ‘पहले से हम यहां आते रहे हैं, कुछ साल से आना-जाना कम हो गया था। मेरे मन में बात आई, यहां से काम करें, तो आज से आना शुरू कर दिया। अब वह हफ्ते में कम से कम एक बार यहां आकर यहीं से काम करेंगे। 

सीएम ने कहा कि इस बार हमने जो काम तय किए हैं, उनके लिए योजना पर काम हो रहा है। हर चीज के बारे में सर्वे किया जा रहा है, ताकि बेहतर काम हो। इस बार जो बजट आएगा, उसमें कई चीजों के लिए प्रावधान किया जाएगा। हर विषय को देखते रहना पड़ता है, कोई काम हो रहा है। उसमें कहां बाधा आ रही है। जो निर्णय लिए गए हैं, उसके क्रियान्वयन में कहीं कठिनाई तो नहीं हैं। किसी चीज को मौके पर जाकर देखने पर सही जानकारी मिलती है। हम फील्ड में जाकर भी बहुत चीजों को देखते हैं। सीएम ने कहा कि जनता की सेवा करना ही हमारा धर्म है। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से नीतीश कुमार लगातार दौरे और निरीक्षण कर रहे हैं। इस दौरान वह अधिकारियों की क्‍लास भी लगा रहे हैं। 

उधर, बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर आज नए साल की खुशियों के साथ उनका जन्‍मदिन भी मनाया गया। इस मौके पर राबड़ी देवी ने बिहार की जनता को बधाई देते हुए भाजपा और जेडीयू के गठबंधन वाली सरकार पर तीखा हमला भी बोला। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में अपराध और अराजकता चरम पर है। नीतीश कुमार को महागठबंधन में फिर से शामिल किए जाने की सम्‍भावनाओं पर राबड़ी देवी ने कहा कि इस पर पार्टी अध्‍यक्ष और अन्‍य नेता विचार विमर्श करके तय करेंगे कि क्‍या करना है। उन्‍होंने कहा कि भाजपा ने जैसा अरुणाचल में किया वैसा बिहार में भी कर सकती है। भाजपा सब कुछ चुपचाप करती है। जब कर देती है तब पता चलता है। 

इससे पहले पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू प्रसाद के ट्वीटर हैंडल पर भी उनकी ओर से बिहारवासियों के लिए नववर्ष पर बधाई संदेश प्रसारित हुआ। इस संदेश में लिखा है- ‘नववर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं। नए साल में गरीबी, बेबसी, बेरोजगारी, बेकारी का नाश हो। सामाजिक-आर्थिक असमानता व ऊंच-नीच का भेद मिटे। प्रेम सौहार्द बढे़, सांप्रदायिक सद्भाव स्थापित हो, इन्हीं मंगलकामनाओं के साथ आप सभी के स्वस्थ और खुशहाल जीवन की कामना करता हूं।’

Share This Post