बिहार

कोरोना को लेकर सीएम नीतीश ने की समीक्षा बैठक, दिए कई निर्देश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए सोमवार को कहा कि कोरोना संक्रमण का लक्षण हो तो रिपोर्ट निगेटिव आने पर भी अस्पतालों में इलाज सुनिश्चित करें। इसके अलावा सीएम नीतीश ने कोरोना जांच की रिपोर्ट को भी जल्द उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। राज्य में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को लेकर हुई समीक्षा बैठक के दौरान सीएम नीतीश ने ये बातें कहीं।

वहीं दूसरी ओर सोमवार को राज्य में 11,801 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान हुई। पटना में सर्वाधिक 2720 नए संक्रमित मिले। पटना सहित छह जिलों में पांच सौ से अधिक नए संक्रमित मिले। औरंगाबाद में 550, बेगूसराय में 549, गया में 655, गोपालगंज में 500 और सारण में 560 नए संक्रमित मिले। राज्य में 80,461 सैम्पल की पिछले 24 घंटे में जांच की गई।

बिहार में स्थिति गंभीर, युद्धस्तर पर कार्रवाई करे सरकार: माले
भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा है कि हमने बिहार सरकार को कोविड के लगातार बढ़ते प्रकोप से जनता की रक्षा के लिए पत्र लिखकर आवश्यक कदम उठाने की मांग की है। हमारा मानना है कि नीचे की लचर व दम तोड़ चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था इस आपाधापी व अराजकता का मूल कारण है। सरकार को अविलंब डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों अन्य आधारभूत संरचनाओं को व्यवस्थित व विस्तृत करने के लिए युद्धस्तर के अभियान में लगना होगा। पीजी के स्टूडेंट, आरएमएस प्रैक्टिशनर्स, गांव-देहात में कार्यरत नर्स व स्वास्थ्य सेवा से जुड़े लोगों के लिए सरकार न्यूनतम प्रशिक्षण की व्यवस्था करे, ताकि वे जनता को सतर्क व सही रास्ता बता सकें। पटना के सभी बड़े अस्पतालों में सरकार को न्यूनतम 500 कोविड बेड की व्यवस्था करनी चाहिए। जिला स्तर के अस्पतालों में 100 वेंटिलेटर सहित 500 बेड के हॉस्पीटल की व्यवस्था की जाए। ऑक्सीजन व दवाइयों की कालाबाजारी रोकी जाए। 

Share This Post