Congress RJD
बिहार विधानसभा चुनाव 2020

बिहार चुनाव: राजद से जोरआजमाइश के बीच उम्मीदवार तय करने में जुटी है कांग्रेस

बिहार विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर राष्ट्रीय जनता दल के साथ चल रही रस्साकशी के बीच कांग्रेस अपने संभावित उम्मीदवारों के पैनल को अंतिम रुप देने में जुटी है। पार्टी सभी सीट पर उम्मीदवारों का पैनल तैयार कर रही है, क्योंकि अभी तक राजद के साथ सीट बंटवारा नहीं हुआ है। पार्टी नेता मानते हैं कि एक-दो दिन में स्थिति साफ हो जाएगी।

विधानसभा चुनाव के उम्मीदवारों के चयन में पार्टी इस बार नए चेहरों को तरजीह देगी। इसके साथ उच्च जातियों का भरोसा जीतने के लिए ब्राहमण उम्मीदवारों को भी पहले के मुकाबले ज्यादा टिकट देने की तैयारी है। पार्टी की स्क्रीनिंग समिति के एक सदस्य ने कहा कि हमारी कोशिश है कि आपराधिक छवि वाले नेताओं को चुनाव में कम से कम टिकट दिया जाए।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि राजद के साथ सीट की संख्या को लेकर जोर आजमाइश चल रही है। इसके साथ कौन-कौन सी सीट होगी, इस पर भी दोनों पार्टियों में मतभेद हैं। इसके बावजूद हम समझते हैं कि राजद राजनीतिक स्थिति को समझते हुए अपने रुख में बदलाव करेगी। बड़ी पार्टी होने के नाते गठबंधन बनाए रखना कांग्रेस का भी कर्तव्य है।

यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस राजद के अलावा दूसरी पार्टियों के साथ मिलकर चुनाव लड सकती है, उन्होंने कहा कि इसकी उम्मीद बहुत कम है। राजद अगर कांग्रेस के बगैर चुनाव लड़ने का फैसला करती है, तो उस स्थिति में सभी विकल्प खुले है। पर साथ ही उन्होंने कहा कि राजद अकेले चुनाव लड़ती है, तो कांग्रेस से ज्यादा राजनीतिक नुकसान उसे होगा।

दरअसल, 2010 के विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियों ने अलग अलग चुनाव लड़ा था। कांग्रेस ने सभी सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, पर पार्टी सिर्फ चार सीट जीत पाई थी। वहीं, राजद को सिर्फ 22 सीट मिली थी। जबकि 2015 के विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियों का प्रदर्शन अच्छा रहा था। हालांकि, 2015 में जेडीयू भी महागठबंधन का हिस्सा था।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer