पटना बिहार

Bihar Corona Update: पटना में कोरोना महामारी ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 1431 पेशेंट्स के साथ नए पीक पर

पटना में कोरोना ने विस्फोटक रूप ले लिया है। शनिवार को पिछला सारा रिकॉर्ड तोड़ दिया। पटना जिले में कुल 1431 नए संक्रमित मिले, जबकि चार संक्रमितों की मौत हो गई। वहीं, पूरे राज्य में 3469 मरीज मिले, जो दूसरी लहर में सबसे बड़ी संख्या है। इसके पूर्व 15 अगस्त 2020 को राज्य में 3536 नए संक्रमितों की पहचान की गई थी। उधर,  822 संक्रमित मरीज राज्यभर में इलाज के बाद स्वस्थ हो गए, जबकि छह की इलाज के दौरान जान चली गई।


होली के बाद से ही लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ीं
पटना की बात करें तो होली के बाद से ही यहां लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। नए संक्रमितों में ज्यादातर उन्हीं इलाके के लोग हैं, जहां पहले बड़ी संख्या में मरीज मिल रहे थे। इनमें कंकड़बाग, पाटलिपुत्र-न्यू पाटलिपुत्र कॉलोनी, दानापुर, बोरिंग रोड, बोरिंग कैनाल रोड, एसकेपुरी के अलावा शास्त्रीनगर, रूपसपुर,  बहारदुरपुर हाउसिंग कॉलोनी, पोस्टल पार्क, सरिस्ताबाद-गर्दनीबाग आदि इलाके के शामिल हैं। पटना में अब कुल संक्रमितों की संख्या 59484 हो गई है। 54074 लोग अब तक स्वस्थ हो चुके हैं।अब एक्टिव संक्रमितों की संख्या भी 4938 हो गई है। वहीं, जिन चार लोगों की जान गई है, उनमें एक पटना के गोसाईं टोला के गोपेश्वर प्रसाद हैं। बाकी तीन मृतकों में एक बासुकीनाथ दुमका के राजकुमार साह, आरा की कौशल्या देवी और बक्सर के विनोद गुप्ता शामिल हैं। 

नए संक्रमितों में बड़ी संख्या में कांट्रैक्ट ट्रेसिंग वाले
सिविल सर्जन डॉ. विभा सिंह ने बताया कि नए संक्रमितों में बड़ी संख्या में कांट्रैक्ट ट्रेसिंग वाले हैं। कंकड़बाग, पाटलिपुत्रा कॉलोनी, दानापुर व अन्य संक्रमित इलाके में उनकी टीम द्वारा संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की जांच की थी। ऐसे कई लोग स्वयं जांच कराने भी पहुंचे थे जिनके साथ के लोग संक्रमित हुए थे। संक्रमितों में कई एक ही परिवार के अथवा एक ही अपार्टमेंट, कॉलोनी या मोहल्ले के मिल रहे हैं। बड़ी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी भी संक्रमित मिले हैं। पीएमसीएच में 44 स्वास्थ्यकर्मी एक साथ संक्रमित पाए गए हैं। इनमें नर्सिंग स्टाफ, वार्ड बॉय से लेकर लैब सहायक तक शामिल हैं। आशियानानगर, पाटलिपुत्रा, कंकड़बाग के पोस्टल पार्क और बहादुरपुर हाउसिंग कॉलोनी से एक ही जगह के कई लोग संक्रमित मिले हैं। उन्होंने बताया कि अभी की जांच रिपोर्ट से साफ है कि कोरोना का नया स्ट्रेन काफी तेजी से संक्रमण फैला रहा है। इससे बचने का सबसे बेहतर उपाय कोरोना मानकों का कड़ाई से पालन करना और वैक्सीनेशन ही है। 

पटना एम्स  में सात भर्ती, 12 डिस्चार्ज 
पटना एम्स में शनिवार को सात नए संक्रमित भर्ती हुए, जबकि 12 को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। एक की मौत इलाज के दौरान हो हुई। कोविड वार्ड में भर्ती कुल मरीजों की संख्या 104 हो गई है। एम्स में 1835 लोगों की जांच रिपोर्ट आई। इनमें 162 लोग संक्रमित पाए गए।

7 दिनों में पटना में ऐसे बढ़ा कोरोना का ग्राफ

तारीख         मरीज
1 अप्रैल  174
2 अप्रैल  287 
3 अप्रैल    359
4 अप्रैल    372
5 अप्रैल    432
6 अप्रैल    486
7 अप्रैल    522
8 अप्रैल    743
9 अप्रैल    661
10 अप्रैल  1431

Share This Post