Coronavirus दुनिया

सावधान! इन जगहों पर छह फीट से अधिक दूरी तक जा सकता है कोरोना वायरस, मास्क ही बचाएगा

अमेरिका की शीर्ष जन स्वास्थ्य एजेंसी ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस छह फीट की दूरी रखने पर भी फैल सकता है, खासकर बंद स्थानों या जहां हवा का प्रवाह खराब हो..लेकिन साथ ही एजेंसी के अधिकारियों ने इस बात पर भी जोर दिया कि संक्रमण का ऐसा प्रसार असामान्य है और अब भी सामाजिक दूरी के नियम कारगर हैं।

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) के इस दावे पर हालांकि कई विशेषज्ञों ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि वायरस सीडीसी द्वारा बताए तरीके से अधिक आसानी से फैल सकता और साथ ही उन्होंने लोगों से बड़े खुले स्थानों, जहां वे दूसरे लोगों से छह फीट से अधिक दूरी पर हों, पर भी मास्क पहनने की अपील की।

‘यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डॉ. डोनाल्ड मिल्टन ने कहा, ”वायरस हवा के माध्यम से फैल रहा है और इससे स्पष्ट और कुछ नहीं हो सकता। आप छह फीट की दूरी पर भी सुरक्षित नहीं हैं। आप छह फीट से अधिक दूरी पर होने पर भी मास्क नहीं उतार सकते।”

सीडीसी कई महीनों से कह रहा है कि वायरस एक संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने पर हवा में फैलने वाली छोटी बूंदों (एयर ड्रोपलेट्स) से फैलता है। सीडीसी के सामाजिक दूरी के अधिकतर दिशा-निर्देश इस बात पर ही आधारित हैं कि दो लोग जिन्होंने मास्क नहीं पहना है, उनके बीच छह फीट की दूरी उचित है।

एजेंसी ने वेबसाइट पर जारी की अद्यतन जानकारी में इस बात को स्वीकार किया कि कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों ने उनसे छह फीट से अधिक दूरी बनाए रखने वाले लोगों को भी संक्रमित किया। हालांकि सीडीसी ने ऐसे मामलों को सीमित, असामान्य परिस्थिति करार दिया है।

सीडीसी के अधिकारियों ने बताया कि उन मामलों में लोग हवा के खराब प्रवाह और बंद जगह पर व्यायाम या गाना गाने जैसी गतिविधियों में लिप्त थे, जिससे उनकी सांसें तेज चलने लगी और वायरस एक व्यक्ति से दूसरे में फैला।

Share This Post