बिहार

बिहार: साइकिल गर्ल ज्योति कुमारी के पिता की हार्ट अटैक से मौत, गांव में पसरा सन्नाटा

पिछले साल लॉकडाउन में हरियाणा के गुड़गांव से 1200 किमी साइकिल चलाकर अपने बीमार पिता को घर लाकर देश-विदेश में चर्चा में आने वाली ज्योति के सिर से सोमवार को उसके पिता का साया उठ गया। सुबह करीब नौ बजे सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली गांव स्थित अपने आवास पर ज्योति के पिता मोहन पासवान (48) की हार्ट अटैक से मौत हो गयी। उनका अंतिम संस्कार गांव में ही किया गया। बड़े पुत्र नौ वर्षीय हिमांशु कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी। 

ज्योति के पिता की मौत की सूचना मिलते ही लोग सन्न रह गए। किसी को इस सूचना पर विश्वास नहीं हो रहा था। एक-दूसरे को फोन कर लोग इसकी पुष्टि करने लगे। ज्योति ने बताया कि नौ दिन पहले उसके चचेरे दादा कारी पासवान का निधन हो गया था। उसके पिता मोहन पासवान कर्ता बने हुए थे।

इसके लिए सामाजिक बैठक कर वे सुबह घर आये और कहा कि सीने में तेज दर्द हो रहा है। गर्मी भी लग रही है। इसके बाद हम लोगों ने उन्हें पंखा झेला और उनका सीना दबाया। इससे वे ठीक हो गए और छत पर चले गये। कुछ देर बाद छत से नीचे आये और कमरे में सोने चले गये। वहां हम लोग उन्हें पंखा झलने लगे। इसी दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

इधर, मोहन पासवान के निधन की सूचना मिलते ही जिलेभर से लोग शोक व्यक्त करने लगे। जिला प्रशासन के निर्देश पर सिंहवाड़ा बीडीओ राजीव रंजन कुमार और सीओ चौधरी बसंत कुमार सिंह सिरहुल्ली पहुंचे और मोहन पासवान के पार्थिव शरीर पर पुष्प माला अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। सीओ ने कहा कि उनके परिजनों को पारिवारिक लाभ योजना से सरकारी मदद देने की कार्रवाई की जा रही है।

Share This Post