समस्तीपुर

समस्तीपुर : डीडीसी ने बजाई फोन की घंटी, होम आइसोलेशन में मरीजों का जाना हाल

समस्तीपुर । हैलो, मैं उप विकास आयुक्त वरुण कुमार मिश्रा बोल रहा हूं। कैसे हैं आप? कोई दिक्कत तो नहीं? दवा समय पर ले रहे हैं या नहीं? डीडीसी ने शनिवार को सदर अस्पताल स्थित जिला नियंत्रण कक्ष से फोन कॉलिग के माध्यम से होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमित मरीजों से बात की। सिविल सर्जन डॉ. सतीश कुमार सिन्हा ने भी दो-तीन लोगों का कॉलिग के माध्यम से हाल-चाल लिया। उप विकास आयुक्त व सिविल सर्जन ने शनिवार को सदर अस्पताल स्थित ओपीडी भवन में कोविड-19 से संबंधित सुविधा एवं जानकारी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सदर अस्पताल के ओपीडी स्थित जिला नियंत्रण कक्ष का शुभारंभ किया। इसके बाद फोन कर मरीजों का हाल-चाल लिया जा रहा है। कोविड-19 पॉजिटिव होम आइसोलेशन मरीज को भी दूरभाष से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त कर सलाह दी जा रही है।

इन नंबरों से अब दिया जा रहा चिकित्सीय परामर्श

कोविड-19 से संबंधित सुविधा एवं जानकारी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सदर अस्पताल के ओपीडी स्थित जिला नियंत्रण कक्ष क्रियाशील किया गया है। जिसमें लैंडलाइन नंबर 06274-222331, 222334, 222335, 222336, 222337 एवं 222338 और टॉल फ्री नंबर 18003456635 लगाया गया है। नियंत्रण कक्ष में चिकित्सा पदाधिकारी, पारा मेडिकल कर्मी एवं उम्मीद कार्यक्रम अंतर्गत प्रतिनियुक्त परामर्शी को प्रतिनियुक्त किया गया है। कोविड-19 से संबंधित चिकित्सकीय सलाह के साथ-साथ मानसिक अवसाद से ग्रसित व्यक्तियों को परामर्श दिया जा सके। नियंत्रण कक्ष में प्रतिनियुक्त चिकित्सक व कर्मी दूरभाष पर प्राप्त सूचना के आधार पर कॉलर को चिकित्सकीय परामर्श उपलब्ध कराएंगे। यदि मरीज की स्थिति गंभीर होगी ऐसी परिस्थिति में इसकी सूचना नजदीकी सराकरी अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दूरभाष पर अविलंब सूचित करते हुए उन्हें चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने हेतु सूचित करेंगे।

प्रशासन द्वारा सीधी बातचीत कर मरीजों का लिया जा रहा हालचाल

मरीजों से हालचाल पूछने व उन्हें आवश्यक चिकित्सीय सहयोग प्रदान करने के लिए होम आइसोलेशन नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गयी है। नियमित रूप से प्रतिदिन मरीजों से समन्वय स्थापित कर उनमें आत्मविश्वास पैदा करने, दवा खाने व आवश्यक एहतियाती उपाय बरतने के साथ ही आवश्यक बातों से अवगत कराया जा रहा है। डीडीसी ने नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नंबर को भी प्रचारित व प्रसारित करने का निर्देश दिया है।

नियंत्रण कक्ष से क्या दी जा रही है सलाह

होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को चिकित्सीय परामर्श के साथ ही अलग कमरे में सुरक्षित रहने, अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलने, अपने प्रयोग की गयी सामग्री का उपयोग दूसरों के द्वारा नहीं करने, मास्क का प्रयोग करने, नियमित अंतराल पर साबुन से बार-बार हाथ धोने, दो गज की सामाजिक दूरी कायम रखने की हमेशा सलाह दी जाती है।

शांत चित्त होकर मरीजों से संवाद करने का निर्देश

कोविड-19 हेतु स्थापित नियंत्रण कक्ष का नोडल पदाधिकारी टीबी केंद्र के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. बीके सिंह को नामित किया गया है। नियंत्रण कक्ष तीन शिफ्ट में संचालित हो रहा है। डॉ. सिंह अपने कार्य के अतिरिक्त जिला नियंत्रण कक्ष में रोस्टर के अनुसार प्रतिनियुक्त चिकित्सक, कर्मी की रोस्टर, उपस्थिति, दायित्वों के संबंध में सुनिश्चित करेंगे तथा प्रशिक्षण देते हुए अनुश्रवण करेंगे। इस कार्य में सहयोग के लिए आरबीएसके के जिला समन्वयक डॉ. विजय कुमार को सहयोग में लगाया गया है। सिविल सर्जन ने स्वास्थ्य कर्मियों को कहा कि वे शांत चित्त होकर संक्रमित मरीजों से सीधा संवाद स्थापित करें और उन्हें आवश्यक परामर्श देकर उनका आत्मबल बढ़ाएं।

Share This Post