समस्तीपुर

पर्यावरण की सुरक्षा के साथ मनाएंगे दीपावली : एसपी विकास बर्मन, समस्तीपुर

समस्तीपुर । कोरोना संक्रमण के बीच इस बार लोग सुरक्षित दीपावली मनाएंगे। इसको लेकर तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। इस बार लोगों ने दीपावली में प्रदूषण रहित दीया जलाने का संकल्प लिया है। साथ ही पटाखों से भी दूरी बनाने की ठानी है। विशेषज्ञों की मानें तो आतिशबाजी से ध्वनि और वायु प्रदूषण होता है। आतिशबाजी के धुंए से पर्यावरण व सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। यह पर्यावरण में प्रदूषण का स्तर बढ़ाता है तो वहीं मानव शरीर में कई रोगों का कारण बनता है। पहले ही वाहनों, कारखानों और अन्य कारणों से लगातार प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है। कई इलाकों में हवा इतनी जहरीली हो चुकी है कि सांस लेना दूभर होता रहा है। सरकार और कई संगठन पर्यावरण संरक्षण के लिए लगातार प्रयासरत हैं और पौधारोपण अभियान चला रहे हैं। ऐसे में हर व्यक्ति को पौधारोपण करना चाहिए और आतिशबाजी से दूर रहना चाहिए। क्या कहते हैं लोग दीपावली खुशियों का त्योहार है। हमें इसे प्रदूषण का त्योहार बनाने से बचना चाहिए। पटाखों के शोर से न केवल लोगों बल्कि पशु पक्षियों और पेड़ पौधों को भी नुकसान होता है। दूसरी ओर एक बड़ी संपत्ति पटाखों के रूप में जलाकर हम खत्म कर देते हैं। उस रुपये से हम किसी की मदद कर सकते हैं। विकास के कार्यों में इसका प्रयोग हो सकता है।

विकास बर्मन, एसपी, समस्तीपुर

Share This Post