Delhi Terrorist Encounter Live
दिल्ली

राजधानी दिल्ली में सर्च ऑपरेशन के दौरान 15 किलोग्राम IED किया डिफ्यूज, मौके पर अब भी एनएसजी कमांडो तैनात

दिल्ली के धौला कुआं इलाके में शुक्रवार रात को हुए एनकाउंटर के बाद इस्लामिक स्टेट्स ऑफ सीरिया एंड इराक (Islamic State in Iraq and Syria) के ऑपरेटिव अब्दुल यूसुफ को गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद एनएसजी कमांडो ने दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के सहयोग से अब्दुल यूसुफ की निशादेही पर 2 प्रेशर कुकर में 15 केजी आईईडी को डिफ्यूज किया गया है। बावजूद इसके दिल्ली पुलिस और एनएसजी के कमांडो जगह-जगह तैनात हैं। 

मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में आतंकी हमले के अलर्ट के बीच शुक्रवार रात को धौला कुआं इलाके में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और आतंकियों के बीच एनकाउंटर हुआ। इसमें एक आतंकी गिरफ्तार हुआ है, जबकि कई अन्य के छिपे होने की आशंका जताई जा रही है, इसलिए सर्ज ऑपरेशन रात भर चला और अब भी जारी है। गिरफ्तार ISIS के सदस्य का नाम अब्दुल यूसुफ है। सूत्रों के मुताबिक, यूसुफ के कुछ शातिर साथी भी दिल्ली में छिपे हो सकते हैं, इसलिए छापेमारी की जा रही है।

एनकाउंटर के बाबत दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा (Pramod Singh Kushwaha, Delhi Deputy Commissioner of Police) ने बताया कि धौलाकुआं में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के द्वारा मुठभेड़ के बाद एक इस्लामिक स्टेट्स ऑफ सीरिया एंड इराक (Islamic State in Iraq and Syria) ऑपरेटिव को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोपित यूसुफ के पास से आईईडी भी बरामद किया गया है। 

मिली जानकारी के मुताबिक, आतंकी अब्दुल युसुफ कश्मीर का रहने वाला बताया जा रहा है। इसके पास से दो आइईडी और एक पिस्टल मिली है। आइईडी को एनएसजी को सौंप दिया गया। इस बीच बुद्धा गार्डन के पास सर्च के दौरान 2 प्रेशर कुकर में 15 केजी आईईडी मिला था, जिसे एनएसजी ने डिफ्यूज कर दिया है। 

इसके पास के एक बाइक भी मिली है जो गाजियाबाद नंबर की है। उसी से आतंकी कही जा रहा था, हालांकि, बाइक का नंबर प्लेट फर्जी पाया गया है।

यहां पर बता दें कि पहले ही यह अलर्ट जारी कर चुका है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के 3 खूंखार आतंकी पाकिस्तान के रास्ते भारत में दाखिल हो चुके हैं। ये तीनों आतंकी दिल्ली में कोई बड़ा आतंकी हमला कर सकते हैं और इनके निशाने पर दिल्ली में रहने वाले वीवीआइपी हैं। जैश-ए-मुहम्मद के इन आतंकियों के नाम गुलजान, जुमान खान और शकील अहमद बताए हैं।

तीनों जैश के मुखिया मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर के करीबी हैं। ये तीनों आतंकी जम्मू कश्मीर के सियालकोट सेक्टर के रास्ते भारत में घुसे हैं। इनके पास पाकिस्तान के अलावा अफगानिस्तान के पहचान पत्र भी हैं। बताया जा रहा है कि दो कश्मीरी युवक तीनों आतंकियों का मार्गदर्शन कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक ये बस, कार और टैक्सी से दिल्ली में घुस सकते हैं।

सुरक्षा एजेंसियों को यह इनपुट भी मिला है कि त्योहार के मौसम में आतंकी बड़ा हमला कर सकते हैं। इस अलर्ट के बाद दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हालांकि, इसकी पुष्टि पुलिस के आलाधिकारी नहीं कर रहे हैं। बता दें कि अगले कुछ महीने में दिवाली समेत कई त्योहार पड़ेंगे, ऐसे में आतंकी भीड़ को निशाना बना सकते हैं। इसे देखते हुए दिल्ली में सुरक्षा एक बार फिर कड़ी कर दी गई है। पुलिस आयुक्त ने सभी थानाध्यक्षों को निर्देश जारी कर कहा है कि वे अपने-अपने इलाके में लगातार गश्त करते रहें। सुरक्षा में ढिलाई कतई बर्दास्त नहीं की जाएगी। 

Share This Post