पटना

छठ पूजा को लेकर DM और कमिश्नर ने की बैठक, यहां पढ़ें पूरी गाइडलाइन

कोरोना काल में बिहार विधानसभा चुनाव के सफलतापूर्वक मतदान संपन्न होने के बाद छठ पूजा और दीपावली की तैयारी की जा रही है. रविवार को पटना के डीएम कुमार रवि के साथ पटना के प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने बैठक की. इस बैठक में पूजा समिति के प्रतिनिधियों और वार्ड काउंसिलर के साथ भी छठ पूजा की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई. इस दौरान अफसरों, पूजा समिति के प्रतिनिधियों और वार्ड पार्षदों को दिशानिर्देश जारी किये गए.

श्रद्धा, भक्ति और लोक आस्था का महापर्व छठ व्रत के सफल और सुचारु आयोजन सुनिश्चित कराने के लिए प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने अफसरों को तमाम निर्देश दिए. इस बैठक में पटना के सिविल सर्जन की ओर से वर्तमान समय में पटना ज़िले में ख़ासकर पटना शहर में कोविड के लगातार संक्रमण के मामलों को देखते हुए छठ जैसे पर्व में अत्यधिक भीड़ को नियंत्रित करने की आवश्यकता पर बल दिया गया. उन्होंने सार्वजनिक स्थलों पर कोविड संबंधी सावधानी एवं सजगता बनाए रखने का अनुरोध किया है.

बैठक में पूजा समिति के करीब सभी प्रतिनिधियों ने कोरोना के वर्तमान दौर में छठ घाटों पर भीड़ भाड़ नहीं लगाने और सुरक्षित पूजा करने हेतु अपने-अपने घर पर ही छठ व्रतियों को पूजा का आयोजन करने संबंधी सुझाव दिए गए और इस आशय का व्यापक प्रचार-प्रसार कराने की पद्धति साथ उपायों से अवगत कराया गया ताकि अधिकाधिक श्रद्धालु भक्तों को इस आशय से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके. साथ ही संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को प्लान बनाने और वाहन के माध्यम से यथासंभव घर पर सुरक्षित पूजा करने संबंधी प्रचार-प्रसार करने का निर्देश दिया गया.



छठ पूजा को लेकर तमाम दिशानिर्देश दिए गए हैं –



1. कोविड काल में पूजा की आस्था के साथ-साथ सुरक्षा का भी ध्यान रखा जाए।



2. यथासंभव घर पर ही छठपूजा का आयोजन किया जाना श्रेयस्कर होगा।

3. विशेषकर बुजुर्ग व्यक्तियों एवं बच्चों के स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए उन्हें सुरक्षित रूप से घर पर रहने की आवश्यकता है।

4. लोगों को घर पर पूजा का आयोजन करने संबंधी बातों का सरकारी एवं गैर सरकारी स्तर पर जागरूक करने की आवश्यकता पर जोर दिया गया।



5. नगर निगम के परिचालित सफाई वाहन पर जिंगल के माध्यम से वार्डवार प्रचार प्रसार कराने का सुझाव दिया गया ।



6. अधिकाधिक श्रद्धालु भक्तों तक छठ व्रत के घर पर आयोजन करने हेतु मीडिया द्वारा जनहित में प्रचारित करने का सुझाव दिया गया।



7. सार्वजनिक स्थलों पर होर्डिंग, बैनर ,पोस्टर द्वारा भी प्रचार-प्रसार करने को कहा गया।



8. वार्ड काउंसलर द्वारा इस आशय के बारे में वार्डवार डोर टू डोर लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता जताई गई।



9. घर पर छठ करने में असमर्थ व्रतियों को घाटों पर सशर्त छठ व्रत करने संबंधी निर्णय लेने का सुझाव भी दिया गया।



10. कुछ प्रतिनिधि ने छोटे घाटों पर छठ व्रत के आयोजन के लिए बंद करने और बड़े पाट वाले घाटो पर आयोजन करने संबंधी सुझाव दिए गए ।



11. छठ व्रत के अवसर पर सभी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन पर रोक लगाने का सुझाव दिया गया।



12. बैठक में बताया गया कि उच्च स्तरीय निर्णय प्राप्त होने पर उपर्युक्त प्रतिबंध के सम्बंध में निर्देश जारी किए जाएँगे। लेकिन तब तक घाटों पर तैयारी की जाए तथा व्रतियों को सुविधा अनुसार घर पर छठ करने के सम्बंध में प्रेरित किया जाए। यह भी अवगत कराया जाए कि नगर निगम के माध्यम से घर तक शुद्ध गंगा जल आपूर्ति की जाएगी।



13. बैठक में प्रमंडलीय आयुक्त ने छठ महापर्व की आस्था के साथ-साथ कोविड सुरक्षा का भी ध्यान रखना तथा कोरोना खतरा के बारे में भी लोगों को जागरुक एवं प्रेरित करने को कहा।



14. आयुक्त ने पटना नगर निगम के नगर आयुक्त को छठ पर्व के अवसर पर साफ सफाई की सुदृढ़ व्यवस्था करने हेतु विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया।



15. अपने घरों में छठ करने वाले छठ व्रती के लिए घर तक टैंकर से गंगा जल उपलब्ध कराने हेतु प्लान बनाने तथा टीम गठित करने का निर्देश दिया गया।

Share This Post