Patna News
पटना बिहार

शराब के नशे में दिल्ली से पटना तक दो भाइयों को पीटता रहा चालक

दिल्ली से सुपौल जा रहे मधेपुरा के रहने वाले दो छात्रों चंदन कुमार और कुंदन कुमार को शराब के नशे में चालक पीटता रहा। बाद में दोनों सहोदर भाइयों को चालक पटना के मीठापुर बस स्टैंड पर कृष्णा रथ बस के दफ्तर में ले आया, जहां दोनों को बंधक बना लिया गया। दिल्ली के मुखर्जी नगर में रहकर यूपीएससी की तैयारी करने वाले दोनों भाई मधेपुरा जिले के सिंघेश्वर प्रखंड के रहने वाले हैं। इधर, छात्रों के बंधक बनाने की खबर मिलते ही आननफानन में जक्कनपुर के थानेदार मुकेश वर्मा मौके पर पहुंचे और उन्हें वहां से छुड़ा लिया। इसके साथ ही पुलिस ने मारपीट करने वाले आरोपित चालक को गिरफ्तार कर लिया। जिस वक्त जक्कनपुर थाने की पुलिस दोनों छात्रों को छुड़ाने गई थी, उस समय कृष्णा रथ के कुछ कर्मियों ने जवानों को रोकने की कोशिश की। हालांकि पुलिस ने बंधक बने छात्रों को वहां से छुड़ा लिया।

ढाबे में बैठकर चालक ने पी शराब 
दरअसल, बीते शनिवार को दोनों भाई चंदन और कुंदन दिल्ली से सुपौल के लिए कृष्णा रथ बस में सवार हुए थे। बस चालक ने उन्हें रविवार दोपहर तीन बजे सुपौल पहुंचाने को कहा था। लेकिन बस का रूट अचानक चेंज हो गया। बस पटना की ओर आने लगी। काफी देर तक उसमें सवार रहने के कारण कुंदन को प्यास लग गई और उसने चालक से बस रोकने को कहा। इस पर चालक ने बस रोकने से इनकार कर दिया। कई घंटों तक सड़क पर रफ्तार भरने के बाद भी चालक ने बस नहीं रोका तो चंदन ने चालक से दोबारा अनुरोध किया। इस पर बस का चालक उलझ गया। 

आरोप है कि थोड़ी देर बाद बस ढाबे पर रुकी, जहां चालक ने शराब पीकर नशे में धुत होने के बाद चंदन और कुंदन की जमकर धुनाई की। चालक पटना पहुंचने के बाद अंजाम भुगतने की धमकी दे रहा था। इससे सहमे चंदन और कुंदन पटना बस स्टैंड पर पहुंचने से पहले ही बस से उतरने की कोशिश करने लगे। लेकिन चालक दोनों को मीठापुर बस स्टैंड ले आया। इसके बाद दोनों को कृष्णा रथ के दफ्तर में बंधक बनाकर रखा गया। आरोप है कि कृष्णा रथ की मालकिन और चालक दोनों छात्रों से 15 हजार रुपये की मांग कर रहे थे। हालांकि किसी तरह यह बात जक्कनपुर के थानेदार  तक पहुंच गई।

पुलिस का बॉडीगार्ड करता है दबंगई 
सूत्र बताते हैं कि कृष्णा रथ की मालकिन को सरकारी बॉडीगार्ड मिला है। सरकारी बॉडीगार्ड अक्सर यात्रियों के साथ गुंडागर्दी किया करता है। 

अक्सर मिलती है शिकायत
गौरतलब है कि पिछले वर्ष 2020 में भी कृष्णा रथ बस पर लॉकडाउन के कानून को तोड़ने को लेकर दो एफआईआर दर्ज की गई थी। काफी दिनों तक इस बस सर्विस की बसें जक्कनपुर थाने पर जब्त थीं। अक्सर कृष्णा रथ बस की शिकायत लेकर यात्री जक्कनपुर थाने पहुंचते हैं। यात्री कृष्णा रथ बस सर्विस के कर्मियों पर पैसे लेकर सीट नहीं देने सहित अन्य आरोप लगाते रहते हैं। 

Share This Post