समस्तीपुर

समस्तीपुर : आपातकाल लोकतंत्र के लिए काला धब्बा, खत्म हो गई थी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता

समस्तीपुर। स्वतंत्रता के बाद देश के लोगों ने स्वराज व सुशासन का सपना देखा था। आपातकाल में जनता के सपनों का गला घोटने का प्रयास किया गया। जबरन सत्ता में बने रहने के लिए देश में आपातकाल लगाया गया था। उक्त बातें भाजपा जिलाध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कहीं। वे शुक्रवार को शहर मोहनपुर रोड स्थित एक आवासीय परिसर में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की सिफारिश पर 25 जून 1975 को लगाए गए आपातकाल ने देश को हिला कर रख दिया था। कांग्रेस की तत्कालीन नेता और प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था से चुनी हुई सरकार को बर्खास्त करते हुए इमरजेंसी लगाई थी। वह लोकतंत्र के लिए काला धब्बा है। काले कारनामे को छुपाने के लिए रातोंरात सरकार और कांग्रेस के खिलाफ संघर्ष करनेवाले जनसंघ नेताओं को जेल में डाल दिया गया था। प्रेस और मीडिया पर प्रतिबंध लगाकर अभिव्यक्ति की आजादी छीन ली गई थी। आपातकाल के उस काले दिन को याद कर भारत का लोकतंत्र मजबूत रहे, इसलिए भारतीय जनता पार्टी उस दिन को काला दिवस के रूप में मना मना रही है। मनमाने ढंग से शासन चलाने के लिए लगा आपातकाल

एमएलसी हरिनारायण चौधरी ने कहा कि देश में मनमाने ढंग से शासन चलाने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाया। देश के सम्मानित नेता जयप्रकाश नारायण, अटल बिहारी वाजपेयी, जॉर्ज फर्नांडीज सहित सैकड़ों लोगों को जेल भेज दिया गया। आपातकाल की यादों को ताजा करते हुए प्रो. विजय कुमार शर्मा ने कहा कि समस्तीपुर के दर्जनों नेताओं को जेल में बंद कर दिया गया था। भाजपा नेता मनोज कुमार गुप्ता ने कहा कि देश में मनमाने ढंग से शासन चलाने का प्रयास हुआ, इसलिए आपातकाल के उस काले दिन को याद कर भारत का लोकतंत्र मजबूत रहे, इसलिए पार्टी उस दिन को काला दिवस के रूप में मना मना रही।

प्रेसवार्ता का संचालन जिला महामंत्री सुनील कुमार गुप्ता ने किया। इस मौके पर पार्टी के जिला महामंत्री प्रभात कुमार, जिला उपाध्यक्ष राकेश राज, अरविद कुशवाहा, जिला प्रवक्ता मुकेश कुमार सिंह, भाजपा नेत्री विमला सिंह, नीलम देवी, रमाकांत राय, मीडिया प्रभारी दीपक कुमार मंडल, नगर अध्यक्ष राहुल कुमार, पिछड़ा जाति मोर्चा के अध्यक्ष शंभू प्रसाद साह आदि मौजूद थे।

Share This Post