खेल

ENG vs IND: वीवीएस लक्ष्मण ने 4th Test के लिए चुनी भारत की प्लेइंग XI, रहाणे के साथ एक अतिरिक्त बल्लेबाज को दी खिलाने की सलाह

इंग्लैंड ने तीसरे टेस्ट मैच में दोनों विभागों शानदार प्रदर्शन करके भारत को पारी और 76 रनों से हरा दिया। इस मैच में भारतीय टीम का मध्यक्रम संघर्ष कर रहा था। भारतीय टीम को अब दो सितंबर से लंदन में शुरू होने वाले चौथे टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में बदलाव करने का सुझाव मिल रहा है। उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे के हालिया फॉर्म पर सवाल खड़े हो रहे हैं। इस बीच, भारत के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने हालांकि रहाणे का सपोर्ट किया है। रहाणे ने मौजूदा टेस्ट सीरीज में बल्ले से अब तक कुछ खास कमाल नहीं किया है। लक्ष्मण का मानना है कि रहाणे कोर ग्रुप का हिस्सा हैं। उन्होंने रहाणे को सपोर्ट करते हुए कहा कि वह अब भी उन पर अपना विश्वास कायम रखेंगे। 

लक्ष्मण ने ईएसपीएनक्रिकइंफो के साथ बातचीत में कहा, ‘ निश्चित रूप से इसमें कोई संदेह नहीं है कि रहाणे ने अपनी क्षमता के अनुसार प्रदर्शन नहीं किया है। यह कहने के बाद कि मैं रहाणे को इस भारतीय टीम में एक कप्तान के रूप में देखता हूं। वह कोर ग्रुप का हिस्सा हैं। हम जानते हैं कि उन्होंने 36 रन पर आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया में एक कप्तान के रूप में क्या किया था। वह रहाणे का शतक था, जिसने मेलबर्न में भारत के लिए सीरीज में वापस कराई। क्या शानदार दस्तक थी। ऐसे खिलाड़ी भले ही कठिन दौर से गुजर हों, फिर भी मैं उस पर अपना विश्वास बनाए रखूंगा। मैं उन्हें दोनों टेस्ट मैचों से बाहर करने के बारे में सोच भी नहीं सकता।’ 

लक्ष्मण का मानना है कि भारत को अपने पांच के बजाय चार गेंदबाजों और एक अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि बल्लेबाजी लाइनअप अपनी क्षमता के अनुसार नहीं खेला है और टीम काफी हद तक सलामी बल्लेबाजों पर निर्भर है। उन्होंने कहा,’ एक डिपार्टमेंट जो अपनी क्षमता से नहीं खेला है वह है बल्लेबाजी। तीनों टेस्ट मैचों में मुझे लगा कि मध्यक्रम की परीक्षा हुई है। वे रन बनाने के लिए रोहित शर्मा और केएल राहुल पर अत्यधिक निर्भर हैं। इसलिए मुझे निश्चित रूप से लगता है कि अतिरिक्त बल्लेबाज खेलना कुछ ऐसा होगा जिसके बारे में विराट कोहली और रवि शास्त्री सोच रहे होंगे।’

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने साथ ही यह भी कहा कि वह रविचंद्रन अश्विन के चौथे टेस्ट मैच की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिए उत्सुक हैं। उन्हें लगता है कि इंग्लैंड के पास उनके मध्यक्रम में बाएं हाथ के तीन बल्लेबाज हैं और अश्विन इस मामले में प्रभावशाली हो सकते हैं।

Share This Post