Suicide
बिहार

बिहार: नौकरी नहीं मिली इंजीनियर ने फंदा लगा की खुदकुशी, मरने से पहले फेसबुक अकाउंट किया डिलिट

बिहार के भागलपुर में बेरोजगारी से तंग आकर इंजीनियर ने आत्महत्या कर ली। उसे फंदे से लटकता देख परिजन इलाज के लिए मायागंज अस्पताल ले गये, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने परिजनों को शव सौंप दिया। घटना बरारी थाना क्षेत्र के सुरखीकल मोहल्ले में मंगलवार शाम की है। 

नाश्ते के लिए खोजने लगे तो नहीं मिला 
पुलिस को दिये बयान में मृतक इंजीनियर प्रसुन कुमार (26) के पिता बिरेंद्र कुमार ने बताया कि मंगलवार शाम सभी लोग नाश्ता करने वाले थे। तभी प्रसुन को भी खोजा जाने लगा तो वह घर में नहीं दिखा। उसे आवाज लगाई तो भी नहीं बोला। उसके मोबाइल नंबर पर कॉल किया तो उठाया नहीं। उसके बाद खोजते हुए जब ऊपरी तल्ले पर गये तो देखा कि वह रस्सी से फंदा बनाकर उससे लटक रहा था। उसे ऐसी हालत में देख वे चिल्लाने और रोने लगे। परिवार के अन्य सदस्य और आसपास के लोग आये और उसे फंदे से निकालकर अस्पताल ले गये पर तबतक काफी देर हो चुकी थी। 

एक साल से नौकरी की तलाश में था 
बिरेंद्र कुमार सिंह ने पुलिस को बताया है उनके बेटे ने पिछले साल भोपाल से बीटेक पास कर लिया था। उसके बाद से ही वह नौकरी की तलाश कर रहा था। लॉकडाउन में वह घर पर ही रह गया और यहीं से नौकरी के लिए आवेदन करने लगा। लगातार कोशिशों के बाद भी उसे कहीं नौकरी नहीं मिल रही थी। इस बात से वह परेशान रहने लगा था। परिजनों का कहना है कि उसे घर वाले समझाते भी थे कि नौकरी नहीं मिली तो कोई बात नहीं, बाद में मिल जायेगी पर वह परेशान दिखता था।

पिछले साल दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गया था
पिता का कहना है कि पिछले साल सड़क दुर्घटना में उनका बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया था। पिता ने बताया कि दुर्घटना में घायल होने के बाद से ही वह मानसिक रुप से काफी कमजोर हो गया था। पिता का कहना है कि उस दुर्घटना के बाद से वह और परेशान रहने लगा था। प्रसुन भाई में अकेला था जबकि उसकी तीन बहने हैं। उसके चाचा ने बताया कि उनके भाई यानी प्रसुन के पिता बिरेंद्र सिंह पूर्णिया स्थित राज ट्रांसपोर्ट में काम करते हैं। माता-पिता का रो-रो कर उनका बुरा हाल था। सूचना मिली तो मोहल्ले के काफी लोग पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे पर उसके परिजनों को सांत्वना देते दिखे।

फेसबुक अकाउंट भी डिलीट कर दिया
इंजीनियर प्रसुन अपनी जिंदगी से इस कदर तंग आ गया था कि उसने अपने जीवन को खत्म करने की पूरी तैयारी कर ली थी। परिजनों का कहना है कि आत्महत्या करने से पहले उसने अपने फेसबुक अकाउंट को भी डिलीट कर दिया था। परिजन उसके मोबाइल को भी खंगाल रहे हैं पर कुछ ऐसा नहीं दिखा जिससे किसी पर संदेह हो। पिता ने पुलिस को बताया है कि बेटे की आत्महत्या में किसी का कोई दोष नहीं है। 

Share This Post