दुनिया

फ्लू जैसा ही है कोरोना… अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पोस्ट पर फेसबुक, ट्विटर ने लिया ऐक्शन

फेसबुक और ट्विटर ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से मंगलवार को किए गए उस ट्वीट के खिलाफ ऐक्शन लिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि कोरोना बस फ्लू जैसा ही है। सोशल मीडिया कंपनियों इसे कोरोना वायरस को लेकर गलत जानकारियों वाले पोस्ट की श्रेणी में डाल दिया। फेसबुक ने इस पोस्ट को हटा दिया, लेकिन इससे पहले इसे 26 हजार बार साझा किया जा चुका था। 

कंपनी के एक प्रवक्ता ने रॉयटर्स से कहा, ”कोविड-19 की गंभीरता को लेकर एक गलत जानकारी को हमने हटा दिया है।” दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी, जो राजनीतिज्ञों को थर्ड पार्टी फैक्ट चैकिंग से छूट देती है, की ओर से अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ ऐक्शन लिया जाना दुर्लभ है। 

ट्विटर ने भी इसी तरह के ट्रंप के एक ट्वीट पर वॉर्निंग लेबल लगा दिया जो कहा है कि इसने कोविड-19 पर गलत जानकारी देकर नियमों का उल्लंघन किया है। 2019-2020 में फ्लू की वजह से अमेरिका में 22 हजार लोगों की मौत हो गई, जबकि कोरोना वायरस से अमेरिका में अब तक 2 लाख 10 हजार लोगों की जान जा चुकी है। 

कोरोना संक्रमित होने की वजह से सैन्य अस्पताल में तीन रातें बिताने के बाद वॉइट हाउस लौटे ट्रंप ने अमेरिकन्स से बाहर निकलने को और जर दूर करने को कहा। ट्रंप कैंपेन की प्रवक्ता कर्टनी परेला ने कहा, ”सिलिकॉन वैली और मेनस्ट्रीम मीडिया ने हमेशा अपने मंचों का इस्तेमाल डर बेचने और अपने एजेंडे को पूरा करने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को सेंसर किया है, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के दौरान भी यही किया जा रहा है।” 

ट्विटर गलत जानकारी वाले ट्वीट्स पर लेबल लगाता है और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट्स के साथ पहले भी ऐसा किया है। कंपनी ने कहा कि वह ऐसा और तेजी से करने का प्रयास कर रही है। फेसबुक ने पहली बार अगस्त में कोरोना वायरस को लेकर ट्रंप के एक पोस्ट को हटा दिया था। उस पोस्ट में एक वीडियो साझा किया गया था जिसमें कहा गया था कि बच्चे कोविड-19 के प्रति लगभग इम्यून हैं। 

Share This Post