दिल्ली

बिना मास्क पहने लोगों से पैसे वसूलती थी नकली महिला पुलिसकर्मी, ऐसे खुला राज

Delhi: तिलक नगर थाना पुलिस ने एक ऐसी महिला को गिरफ्तार किया है जो नकली एएसआई बनकर बिना मास्क घूम रहे लोग का चालान काटकर उनसे पैसे वसूलती थी। आरोपित महिला का नाम तमन्ना है। किसी को शक नहीं हो इसके लिए महिला ने पुलिस की वर्दी बनाई और इलाके में घूमती रहती थी।

पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त दीपक पुरोहित ने बताया कि पूछताछ में आरोपित महिला ने पुलिस को बताया कि पैसे की तंगी के कारण वह ऐसा करती थी। आरोपित महिला का भेद तब खुला जब उसे चालान काटते तिलक नगर थाना में तैनात दो पुलिसकर्मियों ने देखा। शक होने पर पुलिसकर्मियों ने सादी वर्दी पहनी और महिला के सामने से गुजरे। महिला ने उन्हें मास्क नहीं पहनने के लिए टोका और चालान काटने की बात कही।

पुलिसकर्मियों ने उससे पूछा कि वह कहां तैनात है तो उसने कहा कि उसकी तैनाती तिलक नगर थाना में है। दोनों पुलिसकर्मियों ने कहा कि वे भी तिलक नगर थाना में ही तैनात हैं। इसके बाद महिला घबरा गई और उसका भेद खुल गया। मामले की तहकीकात जारी है।

मोबाइल झपटकर भाग रहे बदमाश को पुलिस ने दबोचा

वहीं, दक्षिणी दिल्ली में कोविड-19 के कारण जेल से जमानत पर छूटकर बाहर आने के बाद झपटमारी व लूटपाट करने वाले आरोपित को सनलाइट थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसकी पहचान फरीदाबाद निवासी सनी उर्फ संजय गुप्ता (26) के रूप में हुई है। उससे झपटमारी का एक मोबाइल बरामद हुआ है।

दक्षिणी-पूर्वी दिल्ली जिले के पुलिस उपायुक्त राजेंद्र प्रसाद मीणा ने बताया कि 11 अगस्त को मथुरा रोड पर गश्त करने दौरान हरिनगर आश्रम बस स्टैंड के पास झपटमारी की सूचना मिली थी। पीडि़त ने मदद के लिए गुहार लगाई तो गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों ने पीछा कर आरोपित को धर दबोचा। पुलिस ने आरोपित से झपटमारी का मोबाइल भी बरामद कर लिया है। पूछताछ में पता चला कि वह पहले भी झपटमारी में जेल जा चुका है। लॉकडाउन के दौरान वह पैरोल पर बाहर आया था और फिर से वारदात करने लगा।

Share This Post