बेगूसराय

पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने यादवों को बताया कुकर्मी

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी गलियारे में आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. सूबे में राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है. बिहार सरकार की पूर्व मंत्री और चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र से जदयू की उम्मीदवार मंजू वर्मा एक बार फिर से चर्चा में हैं. दरअसल उन्होंने एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने यादवों को कुकर्मी बताया है.

बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर विधानसभा सीट से जदयू की उम्मीदवार मंजू वर्मा ने यादवों पर एक विवादित बयान देकर चर्चा माहौल गर्म कर दी हैं. उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह खुलेआम एक खास वर्ग के लोगों को कुकर्मी कहती नजर आ रही हैं. मंजू वर्मा ने कहा है कि शेल्टर होम जैसे कुकृत्य हमलोगों का नहीं, बल्कि राजद के लोगों का काम है.

इस वीडियो के वायरल होने के बाद बेगूसराय में पक्ष प्रतिपक्ष के बीच चर्चाएं का माहौल गर्म है. दरअसल चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र से एनडीए की ओर से इस बार भी मंजू वर्मा को उम्मीदवार बनाया गया है.  मंजू वर्मा को लेकर जहां इस संदर्भ में लोगों ने कहा मंजू वर्मा के पति शेल्टर होम के आरोपी रह चुके हैं और इसी मामले को लेकर जब मंजू वर्मा के पैतृक आवास पर छापेमारी की गई थी तो वहां से अवैध कारतूस बरामद किए गए थे.

इस मामले में मंजू वर्मा और उनके प्रति चंद्रशेखर वर्मा को नामजद अभियुक्त बनाया गया था. हालांकि मंजू वर्मा के अनुसार, उक्त मामले में दोनों पति-पत्नी को आरोपमुक्त कर दिया गया है, लेकिन वायरल वीडियो में जिस तरह से वह राजद और एक खास जाति विशेष के लोगों को कुकर्मी कहती नजर आ रही हैं, वह राजनीति के गिरते स्तर को बयां कर रहा है. 

Share This Post