समस्तीपुर

समस्तीपुर जिले के किडनी मरीजों के लिए खुशखबरी, सदर अस्पताल में राशन कार्डधारियों की हो रही निशुल्क डायलिसिस

समस्तीपुर । समस्तीपुर जिले के किडनी मरीजों के लिए खुशखबरी है। अब उन्हें डायलिसिस के लिए निजी सेंटरों का रुख नही करना पड़ेगा। सदर अस्पताल में ही एपीएल व बीपीएल परिवारों को निशुल्क डायलिसिस की शुरुआत हो गई है। ऐसे मरीज जो पैसों के अभाव में डायलिसिस नहीं करवा पा रहे थे, अब उनकी निशुल्क डायलिसिस होगी। स्वास्थ्य विभाग ने अपोलो डायलिसिस को सदर अस्पताल में डायलिसिस करने के लिए एजेंसी नियुक्त किया है। एजेंसी ने मरीजों का डायलिसिस करना शुरू कर दिया है। सदर अस्पताल में अब तक आधा दर्जन का निशुल्क डायलिसिस हुआ। सदर अस्पताल में वारिसनगर प्रखंड के धनहर गांव निवासी सुनील कुमार राशन कार्ड के आधार पर निशुल्क डायलिसिस हुआ। सुनील जिले के पहले मरीज हैं जिनको इस योजना का सबसे पहले लाभ मिला है। जबकि, दूसरे मरीज के रूप में पूसा प्रखंड के कैजिया चंदौली गांव निवासी संजय कुमार मिश्रा का डायलिसिस किया गया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत किया जा रहा योजना का संचालन
केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री नेशनल डायलिसिस योजना (पीएमएनडीपी) के तहत डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। योजना पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत क्रियान्वयन की जा रही है। इस योजना का संचालन राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के अंतर्गत किया जा रहा है। इस योजना में केंद्र और राज्य सरकार की भागीदारी है। डायलिसिस करने में अपोलो डायलिसिस सेंटर के रुपए खर्च होंगे, जिसे सरकार वहन करेगी। सदर अस्पताल स्थित डायलिसिस सेंटर में एपीएल व बीपीएल राशन कार्डधारियों का निशुल्क डायलिसिस होगा।

तिथि के निर्धारण के साथ मरीज को दिया जाएगा संबंधित कूपन

डायलिसिस सेंटर के चांदसी कुमार व अजय कुमार ने बताया कि किडनी के मरीजों को राशन कार्ड, डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन, टेस्ट रिपोर्ट, आधार कार्ड व पैन कार्ड लेकर आने के साथ महीने में कितने डायलिसिस की जरूरत है का आवेदन देना होगा। रजिस्ट्रेशन कराने के बाद पर्ची को लेकर अस्पताल प्रबंधक के पास जाना है। वहां राशन कार्ड लिस्ट से वेरिफाई करने व मुहर लगाने के बाद अप्रूवल के लिए उपाधीक्षक के पास जाना होगा। उपाधीक्षक पर्ची को एप्रूव करने के साथ ही सर्विस प्रोवाइडर के पास मरीज से संबंधित सारी जानकारी चली जाएगी। डायलिसिस के लिए वी ब्राउन इंडिया को पहले किया गया था

अधिकृत

सदर अस्पताल में किडनी के मरीजों के डायलिसिस के लिए वी ब्राउन इंडिया को अधिकृत किया गया था। एजेंसी का करार समाप्त होने पर अपोलो डायलिसिस सेंटर के साथ स्वास्थ्य विभाग ने करार किया है। किडनी के मरीजों को सदर अस्पताल में डायलिसिस कराने के लिए एक बार में 1745 रुपए खर्च आता था। जबकि कई मरीजों को महीने में चार बार डायलिसिस की जरूरत होती है। वहीं निजी नर्सिंग होम में एक बार डायलिसिस कराने पर ढाई से तीन हजार रुपए खर्च आता है। सदर अस्पताल में निशुल्क व्यवस्था होने से आर्थिक रूप से कमजोर मरीजों को परेशानी नहीं होगी।

Share This Post