बिज़नेस

Gold Price: इस महीने के उच्च स्तर से 4,000 रुपये टूट गया सोना, जानिए चांदी में कितना आया अंतर

सोने-चांदी की कीमतें शुक्रवार को गिरावट के साथ बंद हुई। एमसीएक्स एक्सचेंज पर पांच अक्टूबर 2020 के सोने का वायदा भाव सप्ताह के आखिरी दिन शुक्रवार को 0.29 फीसद की गिरावट के साथ 52,001 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। इसी तरह चार दिसंबर 2020 के सोने का वायदा भाव 0.25 फीसद या 132 रुपये की गिरावट के साथ 52,258 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ।

चांदी की बात करें, तो शुक्रवार को चार सितंबर 2020 की चांदी का वायदा भाव 0.95 फीसद की गिरावट के साथ 66,954 रुपये प्रति किलोग्राम पर और चार दिसंबर 2020 की चांदी का वायदा भाव 1.18 फीसद की गिरावट के साथ 69,447 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ।

अगर हम साप्ताहिक आधार पर तुलना करें तो  बीते हफ्ते में सोने-चांदी की कीमतें करीब-करीब स्थिर ही रही हैं। सप्ताह की शुरुआत में अक्टूबर वायदा का सोना 17 अगस्त, सोमवार को 52,151 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर खुला था और सितंबर वायदा की चांदी 67,106 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर खुली थी। लेकिन सोना अपने सात अगस्त के उच्च स्तर 56,200 रुपये प्रति दस ग्राम से 4,000 रुपये प्रति 10 ग्राम नीचे आ गया है।

वैश्विक कीमतों की बात करें, तो शुक्रवार को सोने का दिसंबर वायदा भाव कॉमेक्स पर 0.50 डॉलर की बढ़त के साथ 1947 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। वहीं, सोने का हाजिर भाव शुक्रवार को 6.79 डॉलर की गिरावट के साथ 1940.47 डॉलर प्रति ओंस पर बंद हुआ।

इसी तरह चांदी के वैश्विक भाव की बात करें, तो इसका दिसंबर वायदा भाव कॉमेक्स पर शुक्रवार को 1.55 फीसद की गिरावट के साथ 26.88 डॉलर प्रति औंस पर और चांदी का हाजिर भाव 1.68 फीसद की गिरावट के साथ 26.79 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ।

वैश्विक बाजारों में, डॉलर में एक मजबूत वापसी और अमेरिकी व्यापार गतिविधियों में सुधार से बीते सप्ताह कुछ हद तक सोने की अपील में गिरावट दिखी, हालांकि कई विश्लेषकों का मानना ​​है कि लंबी अवधि में देखने पर सोने की कीमतों में तेजी बरकरार है। राहत पैकेज एग्रीमेंट में देरी और यूएस डॉलर में उछाल के कारण सोने की वैश्विक कीमतें 2,000 डॉलर प्रति औंस से ऊपर के सप्ताह के शुरुआती स्तर से तेजी से नीचे आ गई।

Share This Post