बिज़नेस

Gold Price Review: सोना अपने ऑल टाइम हाई से 6408 रुपये सस्ता, जानें अगले हफ्ते कैसी रहेगी चाल

सोना अपने ऑल टाइम हाई से अब तक 6408 रुपये प्रति 10 ग्राम तक सस्ता हो चुका है। वहीं चांदी सात अगस्त के अपने उच्च शिखर से 18531 रुपये टूट चुकी है।  सात अगस्त को सर्राफा बाजारों में सोना 56254 पर खुला था। यह अपने सर्वोच्च शिखर पर था, जबकि चांदी 76008 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई थी। अगर बात पिछले पांच दिनों की करें तो सोने के हाजिर भाव में 1774 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट आ चुकी है, जबकि चांदी 8428 रुपये प्रति किलो गिर चुकी है। 

सितंबर में अब तक 1400 रुपये टूट चुका है गोल्ड

सितंबर में अब तक सोना 1400 रुपये प्रति 10 ग्राम टूट चुका है। इस दौरान चांदी पर बड़ी मार पड़र है। चांदी 8457 रुपये प्रति किलो सस्ती हो चुकी है। सितंबर के पहले हफ्ते में चांदी के रेट में 3956 रुपये प्रति किलो की गिरावट दर्ज की गई हीं इस दौरान 469 रुपये प्रति 10 ग्राम सोने की चमक फीकी हुई। दूसरे हफ्ते में सोना-चांदी की चमक थोड़ी बढ़ी और सर्राफा बाजार सोने का हाजिर भाव 423 रुपये चढ़ गया। इस दौरान चांदी भी 407 रुपये चढ़ी। तीसरे हफ्ते में एक बार फिर सोना-चांदी चमके। सोना 226 और चांदी 682 रुपये मजबूत हुई, लेकिन चौथे हफ्ते में डॉलर की मजबूती ने सोने-चांदी की चमक को फीका कर दिया। 21 से 25 सितंबर के बीच सोना जहां 1774 रुपये सस्ता हुआ वहीं चांदी 8428 रुपये तक टूट गई। 

21 से 25 सितंबर के बी ऐसी रही सोने-चांदी की चाल

तारीखसोने का सुबह का रेट(रुपये/10 ग्राम)सोने का शाम का रेट(रुपये/10 ग्राम)चांदी का सुबह का रेट(रुपये/ किलो ग्राम)चांदी का शाम का रेट(रुपये/ किलो ग्राम)
25 सितंबर 202050136498465884357477
24 सितंबर 202049810498225625056471
23 सितंबर 202050222503275821758908
22 सितंबर 202050638506835991559959
21 सितंबर 202051612513416501064141
07 अगस्त 202056254561267600875013

स्रोत: IBJA

जारी रह सकता है उतार- चढ़ाव 

एक्सपर्ट का कहना है कि विकसित देशों में ब्याज दरें शून्य के करीब हैं। लंबे समय तक ब्याज दरें कुछ ऐसी ही रहेंगी। ब्याज दरों का असर सोने के दाम पर पड़ता है। ऐसे में अब उम्मीद की जा रही है ब्याज दरें शून्य के करीब होने से अधिकतर लोग सुरक्षित निवेश के सोने में निवेश का विकल्प चुन सकते हैं। इससे कीमतों में तेजी आने का अनुमान है।

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंसियल सविर्सिज के जिंस शोध के उपाध्यक्ष नवनीत दमानी ने कहा कि हाल के दिनों में सोने का भाव ऊंचाई से गिरकर 50,000 रुपये के दायरे में आया है, जबकि चांदी 60,000 रुपये के दायरे में आई है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इनमें उतार- चढ़ाव जारी रह सकता है। एक्सपर्ट का कहना है कि विकसित देशों में ब्याज दरें शून्य के करीब हैं। लंबे समय तक ब्याज दरें कुछ ऐसी ही रहेंगी। ब्याज दरों का असर सोने के दाम पर पड़ता है। ऐसे में अब उम्मीद की जा रही है ब्याज दरें शून्य के करीब होने से अधिकतर लोग सुरक्षित निवेश के सोने में निवेश का विकल्प चुन सकते हैं। इससे कीमतों में तेजी आने का अनुमान है।

अगस्त में तोड़ दिए सारे रिकॉर्ड

देशभर के सर्राफा बाजारों में सात अगस्त 2020 को गोल्ड का हाजिर भाव 56254 पर खुला। यह ऑल टाइम हाई था। इसके बाद शाम को यह थोड़ी गिरावट के बाद 56126 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ। जहां तक चांदी की बात करें तो इस दिन यह 76008 रुपये प्रति किलो के रेट से खुली थी और 75013 रुपये पर बंद हुई थी। बता दें चांदी का भाव एमसीएक्स पर 25 अप्रैल 2011 को रिकॉर्ड 73,600 रुपये प्रति किलो तक उछला था, जबकि हाजिर बाजार में चांदी का भाव 2011 में 77,000 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया था।  सोने का भाव 16 मार्च 2020 को 38,400 रुपये प्रति 10 ग्राम था।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer