वैशाली

हाजीपुर-वैशाली रेललाइन को शीघ्र सुगौली तक जोड़ा जाए : CM नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज हाजीपुर से वैशाली नई रेल लाइन की शुरुआत हो रही है, जिसे सुगौली तक जोड़ने की योजना है। सुगौली तक इसे शीघ्र जोड़ा जाए। सुगौली भी ऐतिहासिक जगह है, जहां भारत और नेपाल के बीच वार्ता हुई थी। 10 फरवरी, 2004 को वैशाली में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इसका शिलान्यास किया था। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को रेल महासेतु तथा अन्य रेलवे की परियोजनाओं के उद्घाटन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से अपनी बात रखी। पीएम के साथ मुख्यमंत्री ने नए रेल मार्गों पर ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई। परियोजनाओं के उद्घाटन के लिए पीएम मोदी का अभिनंदन किया।

सीएम नीतीश ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान हमारे बाहर फंसे श्रमिकों को राज्य में वापस लाने में रेलवे ने काफी मदद की है। विशेष रेलगाड़ियों से 23 लाख से ज्यादा श्रमिक बिहार आए। निवेदन है कि श्रमिकों के लिए प्रवासी शब्द का प्रयोग न हो। ये सभी देश के वासी हैं।    

वहीं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बिहार के मजदूर अन्य राज्यों में फंसे हुए थे, तब केंद्री की नरेंद्र मोदी सरकार ने मजदूरों के लिए स्पेशल श्रमिक ट्रेनें चलायीं और 1371 स्पेशल ट्रेन से 19 लाख 72 हजार लोगों को निःशुल्क अपने घरों तक पहुंचाने का काम किया है।  इस मौके पर वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि आज का दिन बिहार के इतिहास में स्वर्णिम दिन साबित होने वाला है। 1934 के भूकंप ने बिहार के कोसी क्षेत्र को मिथिलांचल से अलग कर दिया। उसी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अथक प्रयासों से आज फिर जोड़ा जा रहा है। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के बचपन का नाम नरेंद्र था। एक नरेन्द्र ने भारत को विश्व गुरु बनने का सपना देखा था, आज एक नरेन्द्र उनके सपनों को पूरा कर रहे हैं।

Share This Post