SBI
बिज़नेस

अब कैश के लिए घर बैठे करें एक मैसेज, दरवाजे पर खड़ी मिलेगी ATM मशीन

अब आपको पैसे निकालने के लिए बैंक और ATM तक नहीं जाना होगा. अब आपके एक कॉल पर ATM चलकर आपके दरवाजे तक पहुंचेगा. यानी अब एटीएम के बाहर लंबी लाइन और नो-कैश जैसे झंझट से ग्राहकों को जल्द छुटकारा मिलने वाला है.

दरअसल, देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए एक नई सेवा की शुरुआत की है. इसके तहत ग्राहकों को ATM अपने घर तक मंगवाने के लिए केवल एक कॉल या फिर व्हाट्सऐप पर मैसेज करना होगा. इसके लिए SBI ने दो नंबर (7052911911 और 7760529264) जारी किए हैं.

आप जैसे ही ऊपर दिए नंबरों पर कॉल या व्हाट्सऐप मैसेज करेंगे, कुछ देर के बाद ही एटीएम मशीन आपके दरवाजे तक पहुंच जाएगी. फिलहाल, एसबीआई ने पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इस सेवा की शुरुआत लखनऊ में कर दी है. एसबीआई डोरस्टेप एटीएम के चीफ जनरल मैनेजर अजय कुमार खन्ना का कहना है कि लखनऊ में इसकी सफलता के बाद इस सेवा को पूरे देश में जल्द लागू करने की तैयारी है.

बैंक ने बताया कि मोबाइल एटीएम के जरिये ATM मशीन को घर-घर ले जाने का फैसला किया गया है. इसके लिए एसबीआई ने ‘आपकी मांग पर, एटीएम आपके द्वार पर’ सेवा की शुरुआत की है. अजय कुमार खन्ना ने कहा कि एसबीआई का एटीएम दरवाजे तक मंगवाने के लिए ग्राहकों को जारी हेल्पलाइन नंबर पर रजिस्टर्ड मोबाइल से अपना नाम और पता भेजना होगा.  

गौरतलब है कि पहले से ही SBI कई सेवाएं सीनियर सिटीजन और दिव्यांग ग्राहकों को डोरस्टेप दे रही हैं. जिसमें कैश जमा और निकासी की सुविधा, चेक जमा करने की सुविधा, लाइफ सर्टिफिकेट पाने की सुविधा और केवाईसी की सुविधा घर तक तक दे रही है. इसके लिए ग्राहक का रजिस्टर्ड पता बैंक से 5 किलोमीटर के दायरे में होना चाहिए. 

इसके अलावा आप घर बैठे एक मैसेज पर अपने अकाउंट बैलेंस की जानकारी पा सकते हैं. इसके लिए ग्राहकों से किसी तरह का चार्ज नहीं वसूला जाता है. SBI ग्राहक को अकाउंट बैलेंस जानने के लिए केवल अपने रजिस्टर्ड मोबाइल से एक मैसेज करना होगा. ग्राहक को BAL लिखकर 9223766666 पर मैसेज करना होगा, चंद सेकंड में अकाउंट डिटेल मैसेज के जरिये मिल जाएगा.

बता दें, हाल ही में SBI ने अपने बचत खाताधारकों को खाते में मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर चार्ज से छूट का भी ऐलान किया है. इसके साथ ही एसएमएस अलर्ट के लिए भी चार्जेस न वसूलने की घोषणा की है. बैंक के इस फैसले से इसके 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों को राहत मिलेगी.

Share This Post