राजनीति

अगर वैक्सीन बनती है तो सबसे पहले कोरोना योद्धाओं को लगाया जाएगा

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने शनिवार को कहा कि वैज्ञानिक कोरोना वायरस का टीका बनाने के लिये जीतोड़ कोशिश कर रहे हैं और अगर उनकी कोशिश सफल रहती है तो सबसे पहले यह टीका कोरोना योद्धाओं को दिया जाएगा। शनिवार को लालकिले के प्रांगण में स्वतंत्रता दिवस समारोह के बाद मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में शुरू किये गए राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की सराहना की।

चौबे ने कहा, “यह देश के स्वास्थ्य क्षेत्र के लिये ऐतिहासिक दिन है। हमारे स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर हमारे प्रधानमंत्री ने इस मिशन की घोषणा की है। इससे हमारे स्वास्थ्य क्षेत्र में व्यापक बदलाव आएगा।”

पीएम मोदी ने शनिवार को महत्वाकांक्षी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की घोषणा की जिसके तहत प्रत्येक भारतीय को एक स्वास्थ्य पहचान पत्र मिलेगा जो स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता को उस तक सुगम बनाएगा। 

प्रधानमंत्री ने यह भी घोषणा की कि एक बार वैज्ञानिकों द्वारा कोविड-19 के टीके को हरी झंडी दिये जाने के बाद देश बड़े पैमाने पर उनके उत्पादन के लिये योजना तैयार की गई है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा, “हमारे वैज्ञानिक इस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। कोविड-19 के खिलाफ तीन टीकों का परीक्षण विभिन्न चरणों में है। और अगर हम टीका बनाने में सफल होते हैं तो सबसे पहले हमारे कोरोना योद्धाओं को इसे लगाया जाएगा।”

Share This Post