Youth Heart Attack
बिहार

युवाओं में तेजी से बढ़ रहे हार्ट अटैक पर आईजीआईएमएस में होगा शोध

बिहार के पटना स्थित आईजीआईएमएस में इथिकल कमेटी की बैठक में 135 शोध पत्रों को मंजूरी दी गई है, जिसमें युवा अवस्था में हो रहे हार्ट अटैक पर शोध किया जाएगा। संस्थान में चिकित्सक शोध करेंगे कि आखिर 40 से 50 वर्ष की उम्र में ही हार्ट अटैक क्यों हो रहे हैं। 

वहीं इस विषय पर भी शोध किया जाएगा कि जो लोग धूम्रपान कर रहे हैं या नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों में हृदय की बीमारी का पैटर्न क्या है? कमेटी ने तीन ड्रग्स के ट्रायल की भी मंजूरी दी है। वहीं फैकल्टी का 27 शोध पत्र, सीनियर रेजिडेंट की ओर से छह और जूनियर रेजिडेंट की ओर से 89 शोध पत्र लाया गया है। कमेटी में पोस्ट कोविड में हो रही परेशानी को लेकर भी शोध किया जाएगा। एडवांस ब्रेस्ट कैंसर में कीमो के बाद भी बीमारी का इलाज नहीं हो पा रहा है। ऐसे में दवा के इस्तेमाल का क्या असर होगा? इस विषय पर भी शोध किया जाएगा।
 
किडनी ट्रांसप्लांट को लेकर भी शोध होगा। जो गरीब हैं, ऐसे लोगों को किडनी डोनेट करने वाले नहीं हैं, ऐसे गरीब मरीजों का इलाज कैसे हो, इस पर भी शोध किया जाएगा।

Share This Post