समस्तीपुर

समस्तीपुर जिले में विधानसभा चुनाव को देखते हुए धारा-144 लागू

विधानसभा चुनाव को देखते हुये डीएम शशांक शुभंकर ने अपनी शक्ति का प्रयोग करते हुये जिले में धारा 144 लागू कर दिया है। इसके तहत किसी भी प्रकार की राजनीतिक कार्यक्रम, जुलसू, सभा, धरना, प्रदर्शन, ध्वनी विस्तारक यंत्र का प्रयोग आदि नहीं कर सकते हैं। बिना अनुमति के किसी भी प्रकार के आयोजन करने पर उसके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।

चुनावी की अधिसूचना जारी होने के साथ ही सभी प्रकार के धरना, जुलूस, प्रदर्शन या राजनीतिक गतिविधियों पर रोक लगा दी गयी है। अब कोई भी राजनीतिक दल धरना, जुलूस, प्रदर्शन, राजनीतिक सभा का आयोजन नहीं कर सकते हैं। राजनीतिक सभा एवं अन्य कार्यक्रमों के लिये पार्टी को प्रशासनिक अनुमति लेनी होगी। बिना प्रशासनिक अनुमति के कार्यक्रम करने वाले पार्टी के विरुद्ध प्रशासन द्वारा विधि सम्मत कार्रवाई की जायेगी।

इसके लिये प्रशासन के द्वारा निर्धारित किये गये स्थलों पर ही कार्यक्रम किया जा सकेगा। निर्वाचन आयोग के आदेश के अनुसार कोई भी राजनीतिक पार्टी किसी भी राजनीतिक कार्यक्रम व प्रचार आदि के लिए किसी धार्मिक स्थलों का उपयोग नहीं कर सकती है। प्रचार के दौरान किसी भी धर्म एवं सांप्रदाय पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी भी नहीं की जा सकती है। ऐसा करने वाले पार्टी एवं उसके समर्थकों या प्रत्याशियों पर कारवाई की जायेगी। ना ही सरकारी जमीन पर किसी पार्टी का कार्यालय ही संचालित किया जायेगा। वहीं शैक्षणिक संस्थान, अस्पताल से दो सौ मीटर की दूरी पर ही कार्यालय खोली जा सकती है।

घातक हथियारों के प्रदर्शन पर लगी रोक

आचार संहिता लागू होते ही अब कोई भी व्यक्ति पिस्टल, लाठी, गड़ासा, भाला, बंदूक, तलवार सहित किसी भी प्रकार के घातक हथियार का प्रदर्शन सार्वजनिक रूप से नहीं कर सकते हैं। हालांकि यह आदेश परंपरागत ढंग से शस्त्र धारण करने वाले समुदाय, विधि-व्यवस्था व निर्वाचन के काम में लगे मजिस्ट्रेट, निर्वाचन कर्मी, पुलिस आदि पर लागू नहीं होगा। बिना अनुमति वाले कोई भी व्यक्ति अगर इसका प्रयोग करते हैं तो उसके विरुद्ध विधि सम्मत कारवाई की जायेगी।

Share This Post