बिज़नेस

घट रही हैं देश में नौकरियां और बढ़ रहे हैं देने वाले

देश में नौकरियां भले ही घटती जा रही हो, लेकिन नियोक्ताओं के रजिस्ट्रेशन के मामले में एक महीने में करीब 30 हजार का उछाल देखने को मिला है। यानि नौकरियों से ज्यादा नौकरी देने वाली कंपनियों की बढ़ोतरी हुई है। नेशनल करियर पोर्टल में मौजूदा समय में 1 लाख से ज्यादा नियोक्ता रजिस्टर्ड हैं। इनमें से करीब 32 हजार नियोक्ताओं ने दिसंबर महीने में ही रजिस्ट्रेशन कराया है।

नए श्रम कानूनों में नई नौकरी की जानकारी देने के लिए केंद्र या फिर राज्य सरकारों के डिजिटल करियर प्लेटफॉर्म के इस्तेमाल का प्रावधान किया गया है। साथ ही कोरोना महामारी में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ऑर वर्कफ्रॉम होम का इस्तेमाल बढ़ने से भी नौकरी देने के लिए नियोक्ताओं ने इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल बढ़ाया है। इन्हीं वजहों से पिछले कुछ महीनों में रजिस्ट्रेशन बढ़ने लगे हैं।

माहवार नौकरियों-नियोक्ताओं के आंकड़े

महीनाएक्टिव जॉब्सएक्टिव एम्प्लॉयर
अगस्त 202017700050,000
सितंबर 202016800057,000
अक्टूबर 202069,26357,741
नवंबर 202068,81171,014
दिसंबर 202067,670100769

नए नियोक्ता रजिस्ट्रेशन के मामले में तमिलनाडु सबसे आगे

इस साल अगस्त में नेशनल करियर सर्विस पोर्टल में जहां 50 हजार नियोक्ता हुआ करते थे, सितंबर में बढ़कर 57 हजार हो गए है। अक्टूबर में 57,741, नवंबर में 71,014 तो दिसंबर महीने में ये संख्या बढ़कर 1,00,769 हो गई है। दिसंबर महीने में नए नियोक्ता रजिस्ट्रेशन के मामले में तमिलनाडु सबसे आगे रहा। यहां 5,059 नियोक्ता रजिस्टर्ड हुए हैं। वहीं महाराष्ट्र में 4,717, उत्तर प्रदेश में 1,447, दिल्ली में 1,889, हरियाणा में 1,580, झारखंड में 402, उत्तराखंड में 281 और बिहार में 208 नए नियोक्ता रजिस्टर्ड हुए हैं। देश में अभी भी 1 करोड़ 3 लाख से ज्यादा लोग इसी सरकारी पोर्टल के जरिए नौकरियां मांग रहे हैं। भले ही नियोक्ताओं के रजिस्ट्रेशन की तादाद बढ़ती जा रही हो लेकिन उस मुकाबले एक्टिव नौकरियों की संख्या में गिरावट देखी जा रही।

एक्टिव नौकरियों की संख्या 67,670

1 जनवरी को जारी आंकड़ों के मुताबिक दिसंबर महीने में कुल एक्टिव नौकरियों की संख्या 67,670 है। वहीं नवंबर में ये आंकड़ा 68,811 था। यही नहीं नवंबर महीने में जुड़ी कुल 46,500 के मुकाबले दिसंबर में सिर्फ 38700 नई नौकरियों ही जुड़ पाई हैं। नई नौकरियों में गिरावट से सबसे ज्यादा तकनीक और वैज्ञानिक क्षेत्र प्रभावित रहा है। यहां नवंबर की 9820 के मुकाबले दिसंबर में 4,817 ही नई नौकरियां आईं।

वहीं सूचना और संचार क्षेत्र में नई नौकरियां नवंबर में 5900 से घटकर दिसंबर में 3,555 पर पहुंच गईं। प्लेसमेंट और रोजगार देने वाले क्षेत्र में भी नई नौकरियां 16,500 से घटकर 12 हजार हो गईं। कुछ क्षेत्रों में इस दौरान ज्यादा नौकरियां भी आईं हैं। मैन्युफैक्चरिंग में पिछले महीने के 1423 के मुकाबले दिसंबर में 1700, वित्तीय और इंश्योरेंस क्षेत्र में 1792 से बढ़कर 7,392 वैकेंसी आई है। साथ ही पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन और सामाजिक सुरक्षा से जुड़े कामों के लिए दिसंबर में 5,035 नौकरियां आई हैं जबकि पिछले महीने इस क्षेत्र में सिर्फ 1 नौकरी आई थी।

Share This Post