राष्ट्रीय

Cowin पर कर लिया है रजिस्ट्रेशन? जानिए 18 से 44 उम्र के लोगों को कब, कहां और कैसे मिलेगा टीका

1 मई से 18 साल से 44 साल तक की उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू होने जा रहा है, जिसके लिए बड़ी संख्या में रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं। 28 अप्रैल को रजिस्ट्रेशन की शुरुआत के पहले ही दिन कोविन (Cowin.gov.in), आरोग्य सेतु (Aarogya setu app) और उमंग ऐप (UMANG app) से 1.32 करोड़ लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन करा लिया है।

हालांकि, अधिकतर लोग इसके लिए अपॉइंटमेंट नहीं ले पाए हैं, क्योंकि अधिकतर राज्य सरकारों ने 18 से 44 साल तक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन सेंटर तय नहीं किए हैं। वहीं, महाराष्ट्र, दिल्ली जैसे कई राज्यों ने तो यहां तक कह दिया है कि वैक्सीन की कमी की वजह से उनके लिए 1 मई से 18+ के लिए टीकाकरण शुरू करना मुमकिन नहीं है। आइए जानते हैं कि आगे की प्रक्रिया क्या है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद लाभार्थियों को टीकाकरण की तारीख, स्थान और समय बताने के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस मिलेगा। आपको निर्धारित समय पर उस टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर टीका लगवाना होगा।

अपनी पसंद का समय और स्थान चुनें
आरोग्य सेतु ऐप पर दी गई जानकारी के मुताबिक आप टीका लगवाने के लिए अपनी पसंद का समय और स्थान चुन सकते हैं। कोविन ऐप, पोर्टल या आरोग्य सेतु के जरिए आप अपॉइंटमेंट फिक्स कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने रजिस्टर्ड नंबर के जरिए लॉग इन करें। जिलेवार या पिन कोड के जरिए आप टीकाकरण केंद्रों की सूची देख सकते हैं। जिस केंद्र पर उम्र सीमा 18+ दिख रही हो, उनमें से अपनी पसंद का केंद्र चुनें और फिर तारीख सलेक्ट करके अपॉइंटमेंट कंफर्म करें। अपॉइंटमेंट बुक करने के बाद आपको रजिस्टर्ड नंबर पर एसएमएस भेजकर टीकाकरण केंद्र, तारीख और समय बताया जाएगा। आप अपॉइंटमेंट स्लिप को डाउनलोड कर सकते हैं।  

साथ ले जाएं फोटो आईडी
टीकाकरण केंद्र पर जाते समय अपने साथ फोटो आईडी ले जाना ना भूलें। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ”रजिस्ट्रेशन और टीकाकरण केंद्र पर वेरिफिकेशन के लिए फोटो आईडी अनिवार्य है ताकि यह सुनिश्चित हो कि सही व्यक्ति का टीकाकरण हो रहा है।” 

कैसे मिलेगा सर्टिफिकेट?
कोविड-19 टीका का पहला डोज मिलने के बाद लाभार्थी को रजिस्टर्ड नंबर पर एसएमएस मिलेगा। पहले डोज के बाद प्रोविजनल सर्टिफिकेट मिलेगा। दोनों डोज मिलने के बाद QR कोड बेस्ड सर्टिफिकेट मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। भारत में अब तक मंजूर सभी टीके दो डोज वाले हैं। दूसरा डोज मिलने के बाद लाभार्थी को एक सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए लिंक भेजा जाएगा। जहां से डिजिटल सर्टिफिकेट डाउनलोड किया जा सकता है। भविष्य में इस्तेमाल कि लिए आप इसे डिजिलॉकर में भी सेव कर सकते हैं।

Share This Post