बिहार विधानसभा चुनाव 2020

LJP वोटकटुआ पार्टी की तरह, लोजपा की ताकत 2-3 सीटों से अधिक जीतने की नहीं- सुशील मोदी

बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी ने चिराग पासवान की पार्टी लोजपा को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। सुशील मोदी ने कहा है कि लोजपा एक वोटकटुआ पार्टी की तरह है और उसकी ताकत 2-3 सीटों से अधिक जीतने की नहीं है। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में लोजपा नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन से अलग होकर चुनाव लड़ रही है। हालांकि वह केंद्र की मोदी सरकार में बीजेपी के साथ है।

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में सुशील मोदी ने कहा कि लोजपा और बीजेपी के बीच कोई भी डील नहीं है। इस तरह की बातें प्रचारित की जा रही हैं, लेकिन उसके पीछे भी लोगों के अपने हित हैं। मोदी ने कहा कि लोजपा एक वोटकटुआ पार्टी की तरह है। अगर वह किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं है तो उसकी ताकत दो-तीन सीटों से अधिक जीतने की नहीं है। डिप्टी सीएम ने लोगों से यह भी अपील की कि आप लोजपा के उम्मीदवारों को वोट देकर अपने मत को बर्बाद न करें।

सीएम नीतीश ही बनेंगे

सुशील मोदी ने एक बार फिर साफ किया कि एनडीए में भाजपा, जदयू, हम और वीआईपी है। इसके अलवा कोई भी दल एनडीए का हिस्सा नहीं है। अगर भाजपा को जदयू से अधिक सीटों पर जीत मिलती है तो क्या मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही होंगे? इस सवाल का जवाब देते हुए सुशील मोदी ने कहा कि कोई कितनी भी सीट जीते, लेकिन सीएम नीतीश कुमार ही होंगे। उन्होंने 2000 में हुए विधानसभा चुनाव का हवाला भी दिया। उस चुनाव में जदयू के मुकाबले भाजपा को अधिक सीटों पर जीत मिली थी। बावजूद इसके पार्टी ने नीतीश कुमार को सीएम बनाया था।

राजद की विरासत जंगलराज

राजद और तेजस्वी यादव पर हमला करते हुए सुशील मोदी ने कहा कि उस पार्टी को विरासत में जंगलराज मिला है। तेजस्वी चाहकर भी लालू की छाया से बाहर नहीं निकल पाएंगे। उन्होंने राजद द्वारा आपराधिक मामलों वाले व्यक्तियों को उम्मीदवार बनाए जाने पर भी निशाना साधा। राजद के 10 लाख नौकरियों के वादे पर सुशील मोदी ने कहा कि कल को अगर तेजस्वी यह कहें कि हम बिहार के 100 लोगों को चांद पर ले जाएंगे तो इसे लोग नहीं मानने वाले।

Share This Post