उत्तर प्रदेश

खुशखबरी : अयोध्या में शुरू होगी राम मंदिर की नींव की खुदाई, मशीनें पहुंचीं

अयोध्या में राम जन्मभूमि स्थल पर मंगलवार से नींव की खुदाई का काम शुरू होगा। सोमवार को इसे लेकर लखनऊ से अयोध्या तक हलचल तेज रही। श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र सोमवार को लखनऊ पहुंचे। इसके बाद वे अयोध्या रवाना हो गये। 

सूत्रों के मुताबिक मंदिर की नींव के लिए भूमि में 100 फुट गहराई तक कुआं खोदने वाली दो मशीनें रविवार को राम जन्मभूमि परिसर पहुंच गईं। कानपुर से पहुंची कासाग्रांड मशीन से नींव की खुदाई की जाएगी। इस मशीन से पिलर के लिए नींव खोदी जाएगी। करीब 200 मीटर गहराई तक यह खुदाई की जानी है। इस काम के लिए कुछ और मशीनें जल्द ही अयोध्या पहुंच जाएंगी।  लार्सन एण्ड टुब्रो (एल एण्ड टी) के इंजीनियर सोमवार को भी इन मशीनों को तैयार करने में जुटे रहे। पूरे परिसर में 1200 स्थानों पर पाइलिंग होनी है। बड़ी मशीनों को रामजन्म भूमि परिसर गेट नंबर तीन पर से ले जाया जाएगा। पाइलिंग मशीनों से खम्भों को खड़ा करने के लिए खुदाई की जाएगी। राम मंदिर के निर्माण स्थल पर जर्जर मंदिरों को हटाने की प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है। 

विशेषज्ञों की रिपोर्ट के आधार पर नींव की डिजाइन तैयार हो रही 
उधर सीबीआरआई व आईआईटी, चेन्नई के विशेषज्ञों की ओर से भेजी गयी रिपोर्ट के आधार पर नींव की डिजाइन तैयार हो रही है। इसके साथ ही ट्रस्ट की ओर से चेन्नई भेजी गयी गिट्टियों व मोरंग का परीक्षण कार्य भी पूरा कर लिया गया है। इसके अलावा कौन से स्टैंडर्ड की सीमेन्ट का प्रयोग किया जाएगा, इस बबात भी विशेषज्ञों ने अपनी रिपोर्ट भेज दी है। विशेषज्ञों की इसी रिपोर्ट के बाद एलएण्डटी  मंदिर निर्माण की मुख्य तैयारी में जुट गया है। इस कार्य के लिए अलग-अलग एजेंसियों से श्रमिकों को भी हायर करने के लिए निर्देश जारी किए जा चुके हैं।

परिसर में जर्जर मंदिरों का ध्वस्तीकरण जारी
रामजन्मभूमि परिसर में जर्जर मंदिरों व भवनों के ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया जारी है। जन्मस्थान-सीता रसोई व बहराइच मंदिर के अतिरिक्त साक्षी गोपाल मंदिर के भवन को ध्वस्त किया जा चुका है और इसके मलबे से मुख्य मंदिर के पश्चिमी भाग के गड्ढे को पाटा जा रहा है। इसके अलावा मानस भवन, कोहबर भवन व रामखजाना समेत आनंद भवन को भी ढहाने की तैयारी की जा रही है।

Share This Post
Kunal Raj
Editor-In-Chief l Software Engineer l Digital Marketer