समस्तीपुर

समस्तीपुर के आंगनबाड़ी केंद्रों में चल रहा बड़ा घोटाला, 6 महीने से गर्भवती महिलाओं तक नहीं पहुंच रहा कोई भी योजना

समस्तीपुर: आज कोरोना महामारी से पूरा देश जूझ रहा है. सबकी निगाहें इस बीमारी से बचाव पर टिकी हैं वहीं सरकार की दूसरी नियमित योजनाओं को अधिकारीयों द्वारा दरकिनार किया जा रहा है. कोरोना तो अभी सबसे बड़ा संकट है हीं लेकिन दूसरी बिमारियों को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिये। समस्तीपुर में बड़े पैमाने में आंगनबाड़ी में घोटाला सामने आ रहा है. समाचार 9 को मिली जानकारी अनुसार आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 240 जो की प्रोफ़ेसर कॉलोनी ,वार्ड -8 में स्थित है वहां 6 महीना से न गर्भवती महिला तक कोई योजना का लाभ पहोंच रहा है न नवजात शिशु तक कोई टिका पहोंच रहा है। जब यहाँ की महिलाएं टिका के लिये सरकारी अस्पताल जाती हैं तो उन्हें वहाँ के कर्मचारी सुझाव देते हैं की कोरोना महामारी के मद्देनजर अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र से टिका के लिये संपर्क करें, लेकिन वार्ड -8 के साथ साथ और भी कई वार्डों में आंगनबाड़ी के कार्यों में भरी अनियमितता बरती जा रही है.

वार्ड -8 की जनता से बात करने पे पता चला की इस छेत्र की सेविका कभी वार्ड में नज़र ही नहीं आती है, मुहल्लेवासियों ने बताया की सेविका पिछले 10 साल में एक बार भी वार्ड में किसी भी घर नहीं गयी हैं, और यहाँ का आंगनबाड़ी केंद्र भी सेविका के घर में हीं चलता है जिसकी जांच होनी चाहिये। इस आंगनबाड़ी से किसी भी गर्भवती महिला को 6 महीने से कोई सुविधा नहीं मिल रहा है.

सेविका से बात करने पर उन्होंने बताया की 6 महीने से कोई सरकारी सहायता किसी भी लाभुक के लिए आंगनबाड़ी केंद में सरकार द्वारा नहीं भेजी जा रही है। वहीं वार्ड पार्षद मीरा मिश्रा ने बताया की CDPO और सेविका सरकारी योजना के पैसे का बंदरबांट कर रहे हैं जिसकी जांच होनी चाहिए।

Share This Post