पटना बिहार

पहाड़ों में बर्फबारी से बिहार में गिरा पारा, 7 डिग्री तक लुढ़का पटना का न्यूनतम तापमान

पिछले 24 घंटों में सूबे में तेज रफ्तार से बह रही उत्तर-पश्चिमी हवा ने बिहार में ठंड बढ़ा दी है। बिना स्वेटर घर से निकलना असहज हो गया है। शाम ढलते ही ठंड बढ़ने लगी है। दुकानों में गर्म कपड़ों की खरीदारी तेज हो गई है।

दरअसल, आसमान साफ होने की वजह से इसका सीधा असर न्यूनतम पारे पर पड़ा है और यह तेजी से लुढ़का है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार उत्तर-पश्चिम से आने वाली हवाओं की रफ्तार 26 किमी प्रतिघंटे रही। पर्वतीय इलाकों में हो रही बर्फबारी के बाद उधर से आ रही हवाएं ठंडी हैं, जिससे मैदानी इलाकों में सिहरन बढ़ी है। पटना में हवा की रफ्तार 14 से 16 किमी प्रतिघंटे तक दर्ज की गई। शनिवार देर रात से ही इन हवाओं की रफ्तार में तेजी देखी गई और इसका असर सूबे में दिखा। यही वजह रही कि पटना का न्यूनतम पारा पिछले 24 घंटों में सात डिग्री तक नीचे आ गया।


पटना में इस सीजन का सबसे न्यूनतम तापमान 10.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिछले 24 घंटों में गया सूबे में सबसे ठंडा रहा। यहां न्यूनतम पारा 8.8 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। मौसम विभाग का अनुमान है कि फिलहाल न्यूनतम पारा इससे नीचे नहीं आएगा। अधिकतम तापमान में उतार-चढ़ाव की स्थिति रह सकती है।

दो दिनों से छाए थे बादल
पिछले दो दिनों से सूबे में आंशिक बादल छाए हुए थे। इस वजह से छठ के दौरान न्यूनतम पारा सामान्य से एक से दो डिग्री तक ऊपर चल रहा था। शनिवार की देर शाम जैसे ही बादलों का छंटना शुरू हुआ और आसमान साफ हुआ वैसे ही पारे में तेजी से गिरावट आई। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी यही स्थिति रहेगी।

सामान्य से पांच डिग्री नीचे आया अधिकतम पारा
इधर, उत्तर-पश्चिम हवा का जोर बढ़ने से अधिकतम तापमान पर भी इसका असर पड़ा है। पिछले 24 घंटों में पटना का अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री तक नीचे चला आया है। अभी पटना का अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए, जबकि रविवार को यह 23.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। गया में भी अधिकतम पारा सामान्य से तीन डिग्री नीचे 25.4, जबकि भागलपुर का 26 और पूर्णिया का 25 डिग्री सेल्सियस रहा।

Share This Post