बिहार विधानसभा चुनाव 2020

बिहार विधानसभा चुनाव: दूसरे राज्यों से बिहार लौटे प्रवासियों का नाम भी मतदाता सूची में होगा शामिल

बिहार में प्रवासियों का नाम मतदाता सूची में शामिल किया जाएगा। इसको लेकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार एच आर श्रीनिवास के निर्देश पर मंथन शुरू हो गया है। बिहार में अक्टूवर-नवंबर महीने में विधानसभा के चुनाव होने हैं। इसको लेकर निर्वाचन विभाग  ने तैयारी शुरू कर दी है। हालांकि कोरोना संकट की वजह से चुनावी तैयारी पर असर पड़ा है लेकिन विभाग  का दावा है कि अभी भी 4 महीने का समय शेष है लिहाजा चुनावी तैयारी पूरी हो जाएगी। सुरक्षित चुनाव कराने को लेकर तैयारी शुरू कर दी गयी है। 

बिहार के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच आर श्रीनिवास के अनुसार कोरोना संकट की वजह से चुनावी तैयारी तो प्रभावित हुई है। आगे भी काफी चैलेंजेज हैं लेकिन हम आश्वस्त हैं कि समय रहते सारी तैयारी पूरी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि कोरोना संकट में लाखों  प्रवासी मजदूर वापस बिहार आए हैं। चुनाव आयोग यह समीक्षा करेगा कि क्या वे यहां के वोटर हैं या नहीं, अगर जिनका नाम वोटर लिस्ट में नाम नहीं होगा तो उनका नाम जोड़ा जाएगा। इसके लिए विशेष अभियान चलेगा।

बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि हमारी तैयारी लगातार चलते रहती है। हमारी पहले दौर की बातचीत हो चुकी है। कुछ दिन पहले हीं सभी डीएम के साथ बातचीत की गई है और उन्हें कई निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना के इस संकट में हमारे लिए चैलेंजेज बढ़े हैं। सूबे में करीब 73 हजार पोलिंग बूथ हैं और करीब 7 करोड़ 18 लाख वोटर हैं। हर बूथ पर करीब 1 हजार वोटर हैं। ऐसे में वोटिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग कैसे मेंटेन होगा यह हमारे लिए बड़ी चुनौती है क्यों कि कोविड-19 को लेकर जो गाइडलाइन हैं उसके तहत काम करना होगा। सुरक्षित चुनाव कराने को लेकर चुनाव आयोग ने काम शुरू कर दिया है। 

Share This Post